बुधवार, 12 सितंबर 2012

डार्क सर्कल से छुटकारा

आपका चेहरा और आपकी आंखें किसी भी व्यक्ति को सबसे पहले आकर्षित करती हैं। इनमें कोई गड़बड़ी आ जाए तो आकर्षक व्यक्ति का भी आकर्षण काफी कम हो जाता है। डार्क सर्कल चेहरे की ऐसी ही एक समस्या है जो आपसे आपकी खूबसूरती छीन सकते हैं। आइए जानते हैं,इससे बचकर कैसे रहें और इसका ग्रहण लग जाए तो मुक्ति कैसे पाएं- 

डार्क सर्कल न सिर्फ आपकी सुंदरता को कम करते हैं, बल्कि आपके खराब स्वास्थ्य और अनियमित दिनचर्या की चुगली भी करते हैं। इनके कारण सुंदर चेहरा भी थका और मुरझाया-सा लगता है। डार्क सर्कल को डॉक्टरी भाषा में पेरीआर्बिटल हाईपर पिग्मेंटेशन कहते हैं। वैसे आंखों के आसपास होने वाले ये काले घेरे कोई ऐसी समस्या नहीं है जिनका उपचार न हो। इन्हें कम करने के साथ इनका पूरी तरह उपचार भी संभव है। 

क्यों हो जाते हैं डार्क सर्कल 
आंखों के नीचे काले घेरे सभी व्यक्तियों को जीवन के किसी न किसी स्तर पर प्रभावित करते हैं। लेकिन युवावस्था में आंखों के आसपास जब ये डेरा जमा लेते हैं तो ये चिंता का कारण बन जाते हैं। ऐसा कई कारणों से होता है, जिनमें प्रमुख हैं- 

-अनुवांशिक रूप से मिला स्किन पिग्मेंटेशन। 

-लगातार सूर्य की किरणों के संपर्क में रहना। 

-कई चिकित्सकीय अवस्थाएं जैसे एलर्जी, अस्थमा, किडनी और लीवर संबंधी गड़बड़ियां भी प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से डार्क सर्कल का कारण बन जाती हैं। 

-शरीर में पोषक तत्वों की कमी विशेषकर विटामिन के और पानी की कमी। 

-तनाव, थकान और उम्र बढ़ने के साथ रक्त संचरण प्रभावित होना। -ऐसी दवाओं का सेवन जिससे रक्त नलिकाएं फैल जाती हैं। 

कैसे बचें 

डार्क सर्कल को कम करने या ठीक करने से ज्यादा जरूरी है कि इन्हें होने ही न दिया जाए। इससे न सिर्फ हमारी आंखें और चेहरा सुंदर दिखेगा, बल्कि हमारा स्वास्थ्य भी बेहतर रहेगा। इसके लिए कुछ बातों का नियमित रूप से ध्यान देने की जरूरत है।

-संतुलित भोजन खाएं, जिसमें विटामिन के और आयरन अधिक मात्रा में हो। जैसे हरी पत्तेदार सब्जियां, फलियां और मांसाहारी भोजन। 

-विटामिन ए भी आंखों के स्वास्थ्य के लिए काफी उपयोगी होता है। यह दूध और दूध से बने पदार्थों, मछली, अंडों, फलों और हरी पत्तेदार सब्जियों में भरपूर मात्रा में पाया जाता है। 

-रात में समय पर सोएं और सुबह जल्दी जागें। 

-सूर्य की किरणों से अपनी आंखों को बचाएं। जब भी धूप में निकलें सन ग्लासेस लगाएं। 

-भरपूर पानी पिएं। 

-अपने डॉक्टर की सलाह पर विटामिन सप्लीमेंट भी ले सकते हैं। 

ऐसे पा सकते हैं मुक्ति 

आज बाजार में कई ऐसे उपचार उपलब्ध हैं, जिनके द्वारा डार्क सर्कल से पूरी तरह से छुटकारा मिल सकता है। यह उपचार इस बात पर निर्भर करते हैं कि इन काले घेरों का कारण क्या है। सबसे पहले किसी अच्छे त्वचा विशेषज्ञ को दिखाएं, ताकि इसका कारण समझ में आए। उनके सुझावों को ध्यान में रखते हुए उपचार का विकल्प चुनें। कोई भी उपचार किसी अच्छे त्वचा रोग विशेषज्ञ की निगरानी में ही कराएं। डार्क सर्कल के उपचार के लिए लेजर रिसर्फेसिंग और इंटेंस पल्स्ड लाइट ट्रीटमेंट, केमिकल पील्स, इंजेक्टेबल डर्मल फीलर प्रोसीजर्स और फैट ट्रांसफर विधियां प्रमुख रूप से उपयोग में लाई जा रही हैं। 

इन बातों का भी रखें ख्याल 

-व्यायाम और योग करें, विशेष रूप से प्राणायाम का अभ्यास जरूर करें। यह त्वचा की सेहत के लिए बहुत अच्छा है। भोजन में नमक कम खाएं। अधिक नमक शरीर में द्रवों को रोक लेता है, जिससे आखें सूजी हुई लगती हैं और उनके नीचे थैले बन जाते हैं। 

-आधुनिक शोधों में यह बात सामने आई है कि ग्रीन टी आंखों के लिए फायदेमंद है। इसमें केटेचिन्स नामक एंटी ऑक्सीडेंट्स होते हैं, जो आंखों की रक्षा करते हैं। 

-रात में आंखों के आसपास ऐसे क्रीम लगाएं जिसमें कोजिक एसिड और आरन्युटिन जैसे लाइटनिंग एजेंट हों। 

घर में भी हैं इससे मुक्ति के उपाय 

-अगर डार्क सर्कल हल्के हैं तो कुछ घरेलू उपाय अपनाकर भी इनका उपचार संभव है। इससे डार्क सर्कल कम होने के साथ आंखों को राहत भी मिलेगी। आप इन उपायों को अपना सकते हैं। 

-बादाम या जैतून के तेल से आंखों के आसपास हल्के हाथों से मालिश करें इससे रक्त संचार ठीक रहता है और आंखों की थकान भी कम होती है। 

-बादाम के तेल और शहद को अच्छी तरह मिलाकर सोने के पहले आंखों के आसपास लगाएं और सारी रात लगा रहने दें। 

-ताजा पुदीने की पत्तियों का पेस्ट बना लें और उसमें नींबू के रस की कुछ बूंदें मिला लें। इस मिश्रण को काले घेरों पर प्रतिदिन 10-15 मिनट के लिए लगाएं। 

-आलू और खीरे के रस को मिलाएं इसमें रुई डुबाएं और उसे करीब 20 मिनट आंखों पर रखें, फिर ठंडे पानी से धो लें। 

-खीरे की स्लाइस या टी बैग को पानी में भिगोकर आंखों पर करीब 20 मिनट तक रखें, इसके बाद ठंडे पानी से आंखें धो लें। 

-कच्चे आलू को कद्दूकस कर काले घेरों पर लगाएं। आधे घंटे बाद आंखें ठंडे पानी से धो लें और मॉइस्चराइजर लगा लें(शमीम खान,हिंदुस्तान,दिल्ली,9.5.12)।

7 टिप्‍पणियां:

  1. उपयोगी जानकारी देता सशक्‍त आलेख ... आभार

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी किसी नयी -पुरानी पोस्ट की हल चल बृहस्पतिवार 13-09 -2012 को यहाँ भी है

    .... आज की नयी पुरानी हलचल में ....शब्द रह ज्ञे अनकहे .

    उत्तर देंहटाएं
  3. डार्क सर्किल पर विस्तृत जानकारी उपलब्ध करवाई है दोस्त ,बचावी चिकित्सा भी .
    ram ram bhai
    बृहस्पतिवार, 13 सितम्बर 2012
    हाँ !यह भारत है

    उत्तर देंहटाएं
  4. विस्तृत जानकारी दे कर बहुतों का कल्याण किया आपने !

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत फायदेमंद पोस्ट आभार

    उत्तर देंहटाएं
  6. इतनी अच्छी जानकारी के लिये धन्यवाद ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।