गुरुवार, 13 सितंबर 2012

थकान और दर्द से निज़ात के आसान उपाय

काम करने से कलाई, हाथ, गर्दन में दर्द होने लगता है, पैर भी बैठे-बैठे अकड़ जाते हैं। आंख में दर्द, जलन होने लगती है। इन सब तकलीफों से बचाव के लिए कुछ व्यायाम करके आप आसानी से आराम कर सकती हैं। बुनाई की शौकीन महिलाओं को अक्सर उंगलियों और कलाई में दर्द की शिकायत रहती है। इस समस्या को ध्यान में रखते हुए कुछ सरल व्यायाम करें जो थकान को दूर करके पुन: तरोताजा महसूस कर सकती हैं 

- यदि आप जल्दी थकान, कंधे या कमर दर्द महसूस करती हैं तो अपने पैरों के नीचे एक पटरा रखें और आराम से बैठें। यह विधि आपके कमर व कंधे के दर्द को मिनटों में दूर करेगी। 

-कलाइयों के व्यायाम हेतु, पियानो या हारमोनियम बजाने की मुद्रा में अपनी प्रत्येक उंगली को टेबल पर रखकर उंगली को आगे-पीछे इधर-उधर घुमाकर नृत्य कराएं, बहुत आराम मिलेगा। 

-अपने दोनों हाथ कंधों के ऊपर तक ले जाएं फिर उन्हें ऐसे घुमाएं। मानों आप होल्डर बल्ब ढीला करके निकाल रही हों। इससे आपके कंधों को बहुत आराम मिलेगा। 

-दोनों हाथों से नमस्कार की मुद्रा बनाएं। हाथों को एक साथ दाएं-बाएं ऊपर-नीचे घु माएं। यह क्रिया हाथों के लिए उत्तम है। हाथों को उसी स्थिति में रखकर अपनी उंगलियों को अलग-अलग और बार-बार फैलाएं- सिकोडें। काफी आराम मिलेगा। 

-हाथों को उसी स्थिति में रखें व बारी-बारी से एक-एक उंगली को फैलाएं व सिकोड़ें, यह क्रिया भी थकी उंगलियों को काफी आराम पहुंचाएगी। 

-यदि आपको बहुत देर तक काम करना हो (कोई काम जल्दी पूरा करना हो) तो गर्दन के पास ऊपर एक हल्का बल्ब जलाकर रखें। इसकी हल्की गरमाहट गर्दन के तनाव को दूर करती रहेगी व रक्त प्रवाह भी संतुलित रहेगा। 

-दोनों हाथों को कोहनी के पास आगे की ओर करें। दोनों हाथों के पंजों को एकदू सरे में फंसाकर विपरीत दिशा में खींचें। दर्द काफी कम हो जाएगा। 

-हर आधे घंटे बाद दोनों हाथों व कंधों को सामने की ओर ढीला लटकाएं। ऐसा केवल दो मिनट के लिए करें। आपको ताजगी महसूस होगी। 

-अपने सिर को सीधा लटकने दें। गर्दन को गोलाई में दाएं-बाएं घुमाएं। 3 बार एक दिशा में और 3 बार दूसरी दिशा में घुमाएं। कुछ सेकेंड बाद गर्दन को दाएं व बाएं कंधे से छूने का प्रयत्न करें। गर्दन ढीली करके आगे-पीछे ले जाएं। फिर देखिए, आप किस तरह से ताजगी का अनुभव करेंगी। 

-आंखों के लिए 5 मिनट सीधी लेट जायें। आंखों पर ठंडे पानी से भींगे रूई के फाहे रखें। करवट लेकर पेट के बल लेट जाएं। ठंडी रूई का फाहा गर्दन पर रखें। आपकी सारी थकान दूर हो जाएगी। आप पुन: बुनाई के लिए तैयार हैं। 

ये कुछ ऐसी क्रियाएं हैं जिन्हें कोई भी महिला कर सकती है। जरूरी नहीं कि काम करने वाली महिलाएं ही ये व्यायाम करें। घरेलू कामकाज के दौरान थकान में भी ये टिप्स आपको फायदा पहुंचाएंगे। (उषा राय,आधी दुनिया,राष्ट्रीय सहारा,3 सितम्बर,2012)।

5 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढिया जानकारी दी आभार

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने आभार

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी जानकारी । पर पैर जमने के लिये, खास कर तब जब आप कुर्सी पर बैठ कर देर तक काम करते हैं, कोई व्यायाम बतायें । मेरे ब्लॉग पर आप आयें धन्यवाद स्नेह बनाये रखें ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. अच्छी लगी जानकारी
    बहुत बहुत आभार !

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।