मंगलवार, 11 सितंबर 2012

क्या गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाना काफी है?

बुरे कोलेस्ट्रॉल को दिल की बीमारियों के लिए ज़िम्मेदार माना जाता है। हाल ही में हुए ताजा शोध अध्ययनों से मालूम हुआ है कि गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ा देने भर से यह ज़ोखिम कम नहीं होता। दिल की बीमारी के ज़ोखिम को कम करने के लिए टोटल कोलेस्ट्रॉल को कम करना ज़रूरी होता है। आनुवांशिकी के क्षेत्र में हुए शोध अध्ययनों के मुताबिक़,हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन(एचडील) कोलेस्ट्रॉल की अधिकता और दिल की बीमारी का ज़ोखिम कम होने के बीच कोई कड़ी नहीं है। 

दुनिया भर में लाखों लोग लो-डेंसिटी लिपोप्रोटीन कोलेस्ट्रॉल(एलडीएल) या बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए कई तरह की औषधियां लेते हैं। शोध अध्ययन बताते हैं कि एचडीएल की मात्रा बढ़ाने से भी कोई उल्लेखनीय फायदा नहीं होता। इसी तरह एचडीएल बढ़ाने वाली दवाओं के सेवन के बाद निराशा ही हाथ लगती है। हार्वर्ड मेडिकल स्कूल, अमेरिका में दिल की बीमारी और जीन के बीच की कड़ी ढूंढने के लिए शोध की अपेक्षाकृत नई तकनीक का इस्तेमाल किया। उन्होंने यह भी पता लगाया कि दिल की बीमारियों के जोखिम और एचडीएल का सीधा संबंध है या नहीं। इससे पहले जो शोध हुए थे उनमें आबादी के २.६ प्रतिशत हिस्से का एचडीएल स्तर बढ़ा हुआ पाया गया था। 

मैसाच्यूसेट्स जनरल हॉस्पिटल के एक अन्य शोधकर्ता डॉ. सेकर काथीरेसान मानते हैं कि एक ख़ास किस्म के जीनधारक मरीज़ों को एचडीएल का स्तर बढ़ाने से फायदा हो सकता है। एचडीएल दिल की बीमारी के जोखिम का आंकलन करने के लिए एक महत्वपूर्ण औज़ार बना रहेगा लेकिन इसका स्तर बढ़ाने वाली औषधियों के फायदों पर कई प्रश्न खड़े हुए हैं। 

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रॉबर्ट एकेल के मुताबिक नए शोध दिल की बीमारी के जोखिम को कम करने के लिए एचडीएल का स्तर बढ़ाने की योजना पर कई संदेह पैदा हो रहे हैं। एचडीएल के स्तर का दिल की बीमारी के जोखिम से सीधा संबंध है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि एचडीएल का स्तर बढ़ाने से फायदा होता है। यह तो सभी जानते हैं कि एलडीएल का स्तर घटाने से दिल की बीमारी का जोखिम कम हो जाता है। इसलिए एलडीएल का स्तर घटाना हमेशा फायदेमंद होता है। 

कैसे घटाएं कोलेस्ट्रॉल 
-३० मिनट तक रोज़ नियमित कसरत करें।

-धूम्रपान न करें और न तंबाकू खाएँ।

-जंकफूड से परहेज़ करें।

-फल और सब्ज़ियाँ अधिक खाएँ।

-शराबखोरी बंद कर दें।

-तनाव घटाने के लिए योगासन और ध्यान करें।

-कमर का घेरा ९० सेंटीमीटर से अधिक न होने दें।

-संतुलित खाना, सही समय पर, सही स्थान पर तथा सही मात्रा में खाएँ।

-३० साल की उम्र के बाद साल भर में एक बार पूरे शरीर का चैकअप कराएँ(सेहत,नई दुनिया,अगस्त तृतीयांक 2012)।

6 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया जानकारी....
    "दिल" खुश हुआ
    :-)
    आभार
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छी जानकारी डी है आपने ... अच्छा खुलासा भी किया है नहीं तो हम तो यही सोचते थे की अच्छे कोलिस्त्रोल को बढाने का जुगाड करो ... समस्या हल हो जायगी ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. कैसे घटाएं कोलेस्ट्रॉल

    ये टिप्स सभी के लिए लाभकारी हैं. ज्ञानवर्द्धक आलेख.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. रॉबर्ट एकेल के मुताबिक नए शोध दिल की बीमारी के जोखिम को कम करने के लिए एचडीएल का स्तर बढ़ाने की योजना पर कई संदेह पैदा हो रहे हैं। एचडीएल के स्तर का दिल की बीमारी के जोखिम से सीधा संबंध है लेकिन इसका अर्थ यह नहीं है कि एचडीएल का स्तर बढ़ाने से फायदा होता है। यह तो सभी जानते हैं कि एलडीएल का स्तर घटाने से दिल की बीमारी का जोखिम कम हो जाता है। इसलिए एलडीएल का स्तर घटाना हमेशा फायदेमंद होता है।
    जितना आप पैदल चलेंगे एल डी एल कम होता जाएगा और आखिर में यही गुड कोलिस्तेरोल में तबदील हो जाता है .

    कमर का घेरा आपकी हाईट के आधे से कम रहे तो दिल के दौरे से आप बचे रहें .मसलन यदि आपकी हाईट पांच फुट आठ इंच या दूसरे शब्दों में १७० सेंटीमीटर है तब आपकी कमर का घेरा ८५ सेंतिमेटर से कम रहना चाहिए दिल की सलामती के लिए .यानी ३४ सेंटीमीटर या उससे भी कम .
    ram ram bhai
    मंगलवार, 11 सितम्बर 2012
    देश की तो अवधारणा ही खत्म कर दी है इस सरकार ने

    उत्तर देंहटाएं
  5. महत्वपूर्ण जानकारियाँ मिलीं .आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  6. कोलेस्ट्रॉल घटाने के उपयोगी टिप्स देने के लिये आभार,,,,

    RECENT POST - मेरे सपनो का भारत

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।