शुक्रवार, 18 मई 2012

दाँतों का रक्षाकवच है एनामल

एनामल दाँतों का रक्षाकवच होता है। इसका क्षरण कई कारणों से हो सकता है। क्षरण हो जाने के बाद यह कभी दोबारा नहीं आता है। एनामल के हटने के साथ ही दाँतों की कई समस्याएँ खड़ी हो जाती हैं। कई खाद्य पदार्थ एवं पेय ऐसे हैं जिनसे दाँतों का एनामल क्षतिग्रस्त हो जाता है।  

ऐसी मान्यता है कि शक्कर दाँतों के एनामल की सबसे बड़ी दुश्मन है लेकिन यह सच नहीं है। झागदार कोला ड्रिंक्स में मौजूद एसिड दाँतों के एनामल के क्षरण के लिए सबसे अधिक ज़िम्मेदार है। इनमें फॉस्फोरिक, मैलिक, साइट्रिक और टार्ट्रिक एसिड होते हैं जो इतने शक्तिशाली होते हैं कि इनके संपर्क से धातु की ऊपरी सतह तक नष्ट हो जाती है। एक अध्ययन से मालूम हुआ है कि नींबू के स्वाद वाली झागदार ड्रिंक पीने से कोला ड्रिंक्स की बनिस्बत ५ गुना अधिक एनामल का क्षरण होता है। यह जानने की कोशिश करें कि सोडा ड्रिंक्स पीने से आपके रक्तचाप, रक्त शर्करा और रक्तवसा का क्या हाल होता है।  

स्पोर्ट्स ड्रिंक्स/एनर्जी ड्रिंक्स 
कसरतों के दौरान पानी पीते रहना महत्वपूर्ण है लेकिन कई लोग बिना करसत किए ही स्पोर्ट्स ड्रिंक्स पीते हैं। स्पोर्ट्स ड्रिंक्स के साथ पाँच अलग- अलग किस्म के कोला और फ्रूट जूस पर हुए एक शोध अध्ययन से पता चला है कि स्पोर्ट्स ड्रिंक्स से दाँतों के एनामल को सबसे अधिक नुकसान पहुँचता है।  

फलों का रस 
संतरा, सेबफल, अंगूर एवं अन्य दूसरे फलों के रस में कई तरह के एसिड शामिल किए जाते हैं, इनसे दाँतों के एनामल को ज़बर्दस्त क्षति पहुँचती है। यह सही है कि फलों के डिब्बाबंद रसों से विटामिन्स और एंटिऑक्सीडेंट्स हासिल होते हैं लेकिन इनकी मात्रा न्यूनतम रखी जा सकती है। फलों का रस घर पर तैयार किया जा सकता है। इसके अलावा फलों को ऐसे ही खाया जा सकता है ताकि दाँतों और मसूड़ों की कसरत भी हो सके। रस पीने के बाद सादे पानी से कुल्ले करें।  

सिरका 
चायनीज़ फूड के साथ सिरका भी लोकप्रिय हुआ है। एक शोध अध्ययन के मुताबिक कई बार सिरका युक्त खाद्य पदार्थ खाने से किशोर/किशोरियों के दाँतों का एनामल क्षतिग्रस्त होने के ३०-८५ प्रतिशत अवसर बढ़ जाते हैं। किशोरावस्था में दाँतों का एनामल पूरी तरह परिपक्व नहीं होता इसलिए इसके खराब होने का जोखिम अधिक होता है।  

इन आदतों से बची रहेगी आपकी मुस्कान 
-दो मुख्य भोजनों के बीच के अंतराल में नाश्ता न लें ताकि एसिड के हमलों को कम से कम किया जा सके।

-किसी भी कोला ड्रिंक को मुंह में रखकर कुल्ले जैसा न करें। इससे पेय पदार्थ अधिक देर तक दाँतों के संपर्क में रहेगा। कोला ड्रिंक्स को स्ट्रॉ से सिप करें ताकि पेय दाँतों के संपर्क में न आ सके।

-एसिड के दौरे को हानि रहित बनाने के लिए भोजन के बाद पानी से कुल्ले करें या शक्कर रहित चुईंगगम चबाएँ।

-भोजन से पहले अथवा भोजन के दौरान दूध या पनीर लेते रहें ताकि एनामल को पुनः मजबूती मिल सके।

-अगर आपने एसिड की अधिकता वाला भोजन किया हो या कोला ड्रिंक्स पिया हो तो ३० मिनट तक ब्रश न करें।

-हमेशा प्लोराइडयुक्त टूथपेस्ट से ब्रश करें। -दंत चिकित्सक से नियमित रूप से चैकअप कराते रहें।  

ताकि दाँत रहें स्वस्थ 

-सिगरेट पीना फेंफड़ों के साथ ही आपके दाँतों के लिए भी हानिकारक है। इससे दाँत पीले पड़ने लगते हैं। बहुत अधिक चाय-काफी जैसे पेय पदार्थों से भी दाँत पीले पड़ने लगते हैं।

-हर २-३ महीने में टूथब्रश बदलते रहें। ज़्यादा समय तक एक ही ब्रश का इस्तेमाल करने से इसमें बैक्टीरिया पनपने लगते हैं और दाँतों को ब्रश करने के दौरान यह आपके दाँतों में लगकर इन्हें खराब कर सकते हैं। यानी पुराने ब्रश के इस्तेमाल से दाँत साफ होने के बजाय संक्रमित हो सकते हैं।  

- ब्रश करने का सबसे अच्छा तरीका है टूथब्रश को मसूड़ों से 45 डिग्री के एंगल पर रखकर ब्रश किया जाए। ब्रश हल्के से करें,दांतों पर बहुत अधिक न घिसें। आगे-पीछे घिसने के बजाए ब्रश को दांतों पर गोलाई में घुमाएं। 

-डिटर्जेंट फूड खाएं- कुछ खाद्य पदार्थों को चबाने से दांत साफ हो जाते हैं। उदाहरण के लिए,सेवफल जिसे प्राकृतिक टूथब्रश भी कहा जाता है। इसके अलावा,आप कच्ची गाजर या पॉपकॉर्न भी चबा सकते हैं। 

-सुबह उठते ही और सोने से पहले दांतों को ब्रश करना बेहद ज़रूरी है। दांतों पर ब्लाक बनने की प्रक्रिया लार के कारण धीमी पड़ जाती है। मुंह में दिन भर थूक बना रता है,लेकिन सोने के बाद मुंह में लार नहीं बनती। इसलिए,सोने से पहले और सुबह उठते ही ब्रश करना ज़रूरी होता है(सेहत,नई दुनिया,मई द्वितीयांक 2012)

5 टिप्‍पणियां:

  1. कोला पर जिंदा रहने वाले बच्चों को अवश्य पढ़ना चाहिए ये...

    शुक्रिया इस सार्थक जानकारी के लिये.
    आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सार्थक जानकारी देती बेहतरीन पोस्ट ,,,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत सुन्दर प्रस्तुति!
    लिंक आपका है यहीं, मगर आपको खोजना पड़ेगा!
    इस प्रविष्टी की चर्चा कल शनिवार के चर्चा मंच पर भी होगी!
    सूचनार्थ!

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुन्दर प्रस्तुति |
    बधाई स्वीकारें ||

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।