रविवार, 18 मार्च 2012

वजन घटाएंगे ये 10 कदम

फिटनेस का फीवर युवा पीढ़ी को तेजी से अपनी गिरफ्त में ले रहा है। कोई पेट का टायर कम करने के लिए सुबह रस्सी कूदता है, तो कोई कमर पर चढ़ी चर्बी की मोटी परत उतार फेंकने की खातिर दिन भर जूस पीता रहता है। यही वजह है कि जिम और योग सेंटर में युवाओं की भीड़ तेजी से बढ़ रही है। लेकिन उनका क्या जिनके पास न तो जिम जाने का वक्त है और न ही अपनी डायट पर कंट्रोल रख सकते हैं। उनके लिए कई ऐसे घरेलू नुस्खे हैं, जो वजन घटाने में मददगार हो सकते हैं। मृदुला भारद्वाज दे रही हैं पूरी जानकारीः 

01. रोज 8 गिलास पानी पीजिए 
खूब पढ़ा और खूब सुना कि पानी पीने से वजन कम हो जाएगा। लेकिन आखिर कितना पानी पिया जाए जिससे वजन कम हो जाए? एक्सपर्ट जवाब देते हैं कि अगर सामान्य व्यक्ति रोजाना 8 से 10 गिलास पानी पिए तो उसका वजन काफी हद तक संतुलित हो सकता है। दरअसल पानी शरीर को साफ रखता है और उन तत्वों को शरीर से बाहर निकालता है, जिनसे शरीर में चर्बी बनती है। पानी पीने का सबसे बड़ा फायदा यह भी है कि लोग ओवरईटिंग से बचते हैं। यानी केवल उतना ही खाना खाते हैं, जितनी भूख होती है। जाहिर है कि जब आप कम खाएंगे तो इससे भी मोटापा कंट्रोल में आता है। साथ ही आपका मेटाबॉलिज्म भी दुरुस्त रहेगा, जिससे खाना आसानी से पच जाएगा। चूंकि खाना अच्छे से पचेगा तो वो सारे तत्व जो मोटापे का बायस बनते हैं, आपके शरीर से बाहर चले जाएंगे। ऐसे में आपकी काया छरहरी बनी रहेगी। अगर ज्यादा पानी पीना आपके लिए संभव नहीं है तो आप लेमन टी, जूस या दूध भी ले सकते हैं, ये भी शरीर को अंदर से साफ करते हैं। 

02. छोटी-छोटी खुराक लीजिए 
खुद को भूखा रखकर या सिर्फ एक या दो बार खाकर वजन कम करने की कोशिश न करें। इससे आपकी सेहत पर खराब असर पड़ेगा और वजन भी कम नहीं होगा। आपको कमजोरी महसूस होगी सो अलग। हां, आप ऐसा कर सकते हैं कि एक बार में ज्यादा खाने की जगह छोटी-छोटी खुराक लें। यानी अगर आप दिन में तीन बार खाना खाते हैं और 15 रोटी खाते हैं तो रोटी की संख्या कम करने के बजाय खाने का समय बढ़ा दीजिए। दिन में पांच बार खाना खाइए और हर बार तीन रोटी खाइए। इससे आप एक साथ अधिक कैलोरी लेने से बच जाएंगे। साथ ही शरीर में जा रही कैलोरी को पचने का समय मिल जाएगा। वजन बढ़ने की समस्या काफी हद तक दूर हो जाएगी। इसी तरह से अगर आप चाय या कॉफी के शौकीन हैं तो एक कप चाय या कॉफी की जगह आधा कप चाय या कॉफी पिएं। इससे कम शुगर आपके शरीर में जाएगी। 

03. खाने में प्रोटीन शामिल करें, शुगर से परहेज करें 
फिट रहने के लिए न्यूट्रिशंस से भरपूर डाइट लें। अगर आप एक्सरसाइज वगैरह करते हैं तो प्रोटीन काम्पलेक्स कार्बोहाइड्रेट वाली डाइट लें। फिट रहने के लिए संतुलित आहार लेना बेहद आवश्यक है, लेकिन इसके साथ कैलोरी का ध्यान जरूर रखें। आमतौर पर लोग मानते हैं कि लिक्विड डाइट से वजन कम होता है। यह सही है, लेकिन तब, जब लिक्विड डाइट में कैलोरी और शुगर की मात्र न हों। यों भी अगर आप वजन कम करना चाहते हैं तो शुगर से परहेज करना ही बेहतर है। 

04. लिफ्ट की जगह सीढ़ियों का इस्तेमाल करें 
एक्सरसाइज जरूर कीजिए। अगर आप जिम या योग क्लासेज में नहीं जा सकते तो कोई बात नहीं। घर पर ही छोटी-छोटी एक्सरसाइज कीजिए। आप रस्सी कूद सकते हैं। डांस कर सकते हैं। अगर ये सब भी मुश्किल लगे तो ऑफिस में तीन से चार बार सीढ़ियां उतरिए। लिफ्ट का इस्तेमाल बंद कर दीजिए, सीढ़ियों का इस्तेमाल ज्यादा से ज्यादा कीजिए। 

05. कुकिंग कीजिए 
आज ज्यादातर लोग बैठे-बैठे सारा काम करते हैं। खड़े होने का मौका कम ही मिलता है। इस आदत से इनसान की शारीरिक और मानसिक दोनों सेहत खराब होती है, जिसका एक नतीजा यह भी होता है कि इनसान मोटापे का शिकार बनता है। कोशिश करें कि रोज कम से कम 10 मिनट खड़े हों। इसके लिए आप किचन में कोई एक डिश बना सकते हैं। मेट्रो या बस में अपनी सीट किसी और को दे सकते हैं। ऑफिस में चाय खड़े होकर पी सकते हैं। 

06. लेबल पढ़ें, फिर खाएं 
वजन कम करने के लिए सबसे जरूरी है कि अपने खाने के सामान के लेबल पढ़ने की आदत डालें। खाने की चीज पर लगे लेबल उसमें मौजूद कैलोरी और वसा के बारे में जानकारी देते हैं। इससे आप खुद ब खुद उन चीज का सेवन करेंगे। 

07. सब्जी खरीदने जाइए 
पैदल चलने की आदत डालिए। मेट्रो के बाद ऑटो या रिक्शा लेने के बजाय पैदल घर जाएं। सब्जी खरीदने या छोटी-मोटी शॉपिंग के लिए बाजार तक पैदल चलकर जाएं। ऑफिस से निकल कर थोड़ी दूर चाय पीने जाएं। दिन में एक से दो बार पूरे ऑफिस का चक्कर लगाएं। 

08. नींद पूरी कीजिए 
नींद पूरी न होने पर इनसान को भूख ज्यादा लगती है, पाचन प्रक्रिया कमजोर होती है, जिससे वह धीरे-धीरे मोटापे का शिकार बनने लगता है। नींद पूरी न होने से हार्मोस का संतुलन गड़बड़ाता है, जिससे पेट बाहर आने की शिकायत होती है। इसलिए कोशिश करें कि दिन में आठ घंटे जरूर सोएं। 

09. वसा कम, फाइबर ज्यादा 
ऐसा खाना खाएं, जिसमें वसा की मात्र कम हो और फाइबर की मात्र ज्यादा हो। कोशिश करें कि खाने में अनाज को ज्यादा से ज्यादा शामिल करें। अनाज खाने से मेटाबॉलिज्म दुरुस्त रहता है और वजन भी कंट्रोल में रहता है। 

10. फूड डायरी बनाइए 
एक फूड डायरी बनाएं। दिन भर में आप क्या और कितना खाते हैं, उसे एक डायरी में नोट करें। इससे आप जान पाएंगे कि आपने कितनी कैलोरी का सेवन किया है। फिर तय करें कि अगले दिन आपको क्या कम खाना है? इससे धीरे-धीरे आपकी डायट कंट्रोल हो जाएगी(हिंदुस्तान,दिल्ली,14.3.12)।

12 टिप्‍पणियां:

  1. achchhi salaah |

    paalan karne ki koshish hai |

    aaj hi pith ki gaanth ka opration karaya hai |

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया जानकारी
    शुभकामनायें आपको !

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढ़िया....
    जिम का खर्चा बचवा दिया आपने :-)

    शुक्रिया...

    उत्तर देंहटाएं
  4. बिना जिम गए मोटापा पर कंट्रोल...आजमाने लायक हैं|

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छी जानकारी। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं
  6. कुकिंग कीजिए से आपका मतलब खड़े होने से है... बर्ना मैं तो डर ही गया था ☺

    उत्तर देंहटाएं
  7. उपयोगी टिप्स .आभार .

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत उपयोगी टिप्स....
    सादर आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  9. बहूत ही बढ़िया जानकारी आभार

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।