सोमवार, 3 अक्तूबर 2011

यौन-शक्तिवर्द्धक यूनानी और आयुर्वेदिक दवाओं में हैं वियाग्रा के तत्त्व

सेक्स समस्याओं से जूझते व्यक्तियों द्वारा बाजार से दवा खरीदकर खाना भारी प़ड़ सकता है। सेक्स पावर ब़ढ़ाने वाली आयुर्वेदिक व यूनानी दवा में वियाग्रा का रसायन सिलेडिनाफिल जमकर मिलाया जा रहा है,जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। ऐसी दवाओं की वजह से अक्सर हृदय रोगियों की मौत हो जाती है,लेकिन इसे हृदयाघात मानकर लोग तसल्ली कर लेते हैं। मिलावट को रोकने के लिए कोई सरकारी तंत्र विकसित नहीं हुआ है।

दिल्ली सरकार की दिल्ली इंस्टीट्यूट ऑफ फार्मास्यूटिकल साइंस एंड रिसर्च -डिपसार ने अपनी जांच में पाया है कि बाजार में मौजूद सेक्स पावर ब़ढ़ाने वाली आयुर्वेदिक व यूनानी दवा में छह ऐसे ब्रांड हैं जो शीघ्रपतन को रोकने के लिए वियाग्रा के रसायन सिलेडिनाफिल और टाडालाफिल का उपयोग धड़ल्ले से कर रहे हैं। डिपसार के पूर्व निदेशक और जांच परियोजना के प्रमुख डॉ. एसएस अग्रवाल के मुताबिक वियाग्रा में सिलेडिनाफिल नामक रसायन मिलाया जाता है।

यह रसायन गुप्तांग सहित शरीर की सभी धमनियों में रक्त बहाव को ब़ढ़ा देता है। रक्त का तेज दबाव शीघ्रपतन को रोकता है,जिससे पुरूष अधिक देर तक शारीरिक संबंध को बनाए रखने में कामयाब रहते हैं। रक्त के इस तेज बहाव के कारण नसें चौ़ड़ी हो जाती है और यही सारे शरीर पर दुष्प्रभाव डालता है। इसलिए इनका सेवन तब तक न किया जाए जब तक कि फिजीशियन इसके लिए सुझाव न दे, लेकिन आयुर्वेदिक व यूनानी दवा लोग दवा दुकानों से ही खरीद लेते हैं, जिससे यह घातक साबित होता है।

प्रोफेसर अग्रवाल के अनुसार ऐसे दवा के उपयोग से लोगों में सिर दर्द होना आम है। इसके अलावा तनाव, नींद न आना, सीने में दर्द, हृदयगति रूक जाना, न्यूरो संबंधी समस्या, पेट की समस्या आदि उत्पन्न होने लगती है। सिलेडिनाफिल का नुकसान इसी से समझ सकते हैं कि जब पहली बार वियाग्रा बाजार में आया था तो १३ महीने के अंदर ५२२ लोगों की मौत हो गई थी और ५६ लोग तो २४ घंटे के अंदर चल बसे थे। इसलिए ऐसी दवाओं के उपयोग से पहले विशेष सावधानी की जरूरत है।

जो दवाएं हैं घातक
सिकंदर-ए-आजम

सुपरसोनिक

गोली वाजिद अली शाह

एक्स पावर

टाइटेनिक के२

मुगले-आजम(संदीप देव,नई दुनिया,दिल्ली,3.10.11)।

2 टिप्‍पणियां:

  1. यह भी सड़क छाप डॉक्टरी का ही नमूना है ।
    वायग्रा शीघ्रपतन के लिए बनी ही नहीं है ।
    यह सिर्फ इम्पोटेंस में काम आती है । लेकिन काम के मारे बेचारे लोग इसके प्रलोभन में पड़कर अपनी जिंदगी दांव पर लगा देते हैं ।

    सावधान करता लेख ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।