गुरुवार, 15 सितंबर 2011

स्किन एलर्जी : क्या करें, क्या नहीं

स्किन एलर्जी से निजात पाना आसान नहीं होता। दरअसल,कई बार डॉक्टरों के लिए भी यह समझना मुश्किल हो जाता है कि स्किन एलर्जी की सही वजह क्या है। जानिए इस बारे में एक्सपर्ट्स की राय :

पिछले दिनों आई एक स्टडी के मुताबिक सेलफोंस स्किन एलर्जी की खास वजह बनते जा रहे हैं। खासकर यंगस्टर्स में यह समस्या इसलिए भी बड़ी होती जा रही है,क्योंकि वे मोबाइल पर घंटों बातें करने में जुटे रहते हैं। बता दें कि सेलफोन में मौजूद निकल इस एलर्जी की वजह होती है। इस एलर्जिक रिएक्शन की वजह से गालों,कानों और जॉ लाइन पर ड्राई और इचिंग वाले पैचेज पड़ जाते हैं। वैसे भी यंगस्टर्स में स्किन एलर्जी की प्रॉब्लम कुछ ज्यादा ही होती है। गौरतलब है कि आपको ऐसी एलर्जी किसी भी वजह से हो सकती है। हम यहां उनमें से कुछ कॉमन एलर्जीज की बात करते हैं।

मेटल एलर्जी
स्किन स्पेशलिस्ट डॉ. गुलशांत पनेसर की मानें, तो यूथ में मेटल एलर्जी और निकल एलर्जी सबसे कॉमन है। बता दें कि यह आर्टिफिशल जूलरी, बेल्ट के बकल्स वगैरह से होती है। कभी-कभी गोल्ड से भी एलर्जी हो सकती है। अगर आपको ऐसी एलर्जी है तो जरूरी होने पर आर्टिफिशल जूलरी बस 1-2 घंटे के लिए ही यूज करें। बेल्ट लेते समय इस बात का ध्यान रखें कि उसकी बकल ऐसी हो, जो स्किन को टच ना करें। छोटी बकल वाली बेल्ट लें।

वॉटर एलर्जी
अक्सर स्किन को वॉटर पॉल्यूशन से भी बचाने की जरूरत होती है। एक्सपर्ट की सलाह होती है कि ऐसे में आप पीने के पानी को क्लोरीन जैसे दूसरे टॉक्सिंस से बचाकर रखें। स्विमिंग पूल्स में भी घंटों समय बिताने से बचें।

कॉस्मेटिक्स एलर्जी
आउटडेटेड कॉस्मेटिक्स और फ्रैगरेंटेड कॉस्मेटिक्स में भी एलर्जी के एलिमेंट्स होते हैं। डिओ और परफ्यूम में भी ये मौजूद होते हैं। एक्सपर्ट ऐसे में इस बात का ध्यान रखने को कहते हैं कि परफ्यूम किसी अच्छे ब्रैंड का हो। हेयर कलर में भी केमिकल्स होते हैं, जिससे एलर्जी हो सकती है। इसलिए कलरिंग करते समय इस बात का खयाल रखें कि कलर स्कैल्प को टच ना करे।

फूड एलर्जी
कई बार फूड एलर्जी से भी स्किन पर रैशेज हो जाते हैं। हालांकि यह ज्यादा लंबी नहीं चलती है। बकौल डॉ. पनेसर, 'अक्सर इसकी वजह आर्टिफिशल कलर भी होते हैं। ऐसे में , बेहतर होगा कि फ्रेशली कुक्ड फूड खाएं। पैक्ड फूड को अपनी डाइट में शामिल न करें और प्रिजर्वेटिव से बचने की कोशिश करें।'

मॉइश्चराइजिंग सनस्क्रीन
डायरेक्ट सनलाइट के लगातार एक्सपोजर से भी स्किन खूब ड्राई हो जाती है , जिससे इसमें बर्निंग और इचिंग सेंसेशन होने लगती है। इसके अलावा हवा और पानी में मौजूद स्मोक,डस्ट और पॉल्यूटेंट्स से भी स्किन में इरिटेशन हो सकती है। ऐसे में कुछ खास बातों का हमेशा ध्यान रखें। सीनियर कॉस्मेटिक सर्जन डॉ. अनूप धीर सलाह देते हैं, 'दिन में घर से बाहर निकलने से पहले स्किन पर हमेशा मॉइश्चराइजिंग सनस्क्रीन लोशन अप्लाई करें। दरअसल,एक अच्छा सनस्क्रीन नुकसानदायक अल्ट्रावॉयलेट रेडिएशन से बचाता है और स्किन को ज्यादा ड्राई होने से भी बचाता है। और हां,ऐसे में आपको फ्रिक्वेंट इंटरवल पर अपना फेस ठंडे पानी से धोना चाहिए। इससे ऑयल , डस्ट पार्टिकल्स और पसीना धुल जाते हैं। साथ ही,स्किन नेचरली हाईड्रेट हो जाती है। बहुत ज्यादा कॉस्मेटिक्स भी यूज करने से बचें। इसके अलावा , कॉफी , सिगरेट और अल्कोहल लेना कम कर दें,क्योंकि स्किन पर एलर्जिक रिएक्शन जल्दी होते हैं। ड्रग्स एलर्जी किसी भी ऐज में ड्रग एलर्जी हो सकती है। यह बेहद कॉमन है। डॉ .पनेसर बताती हैं कि किसी खास एंटीबायोटिक या पेनकिलर से भी स्किन पर रैशेज हो जाते हैं। अगर आप अस्थमा वाली फैमिली से हैं,तब भी एलर्जी हो सकती है। इसके अलावा, अगर आप एचआईवी पॉजिटिव हैं, तो आपको एलर्जी होने के चांसेज ज्यादा रहते हैं(प्रीतंभरा प्रकाश,नवभारत टाइम्स,दिल्ली,13.09.2011)।

4 टिप्‍पणियां:

  1. हम आगे से जरुर ध्यान रखेंगे ......आभार आपका

    उत्तर देंहटाएं
  2. बंगाल में तो यह बीमारी काफ़ी परेशान करती है।

    उत्तर देंहटाएं
  3. abhi mujhe kuchh din pehle fingers par skin allergy hui thi..

    Shuru shuru mein to main dar gaya tha, ke shayad ab pata nahi kya hoga haath ka... magar doctor ko 2 baar dikhane ke baad aur davaa daaru karne ke baad 5 din mein I am perfectly fine.

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।