गुरुवार, 3 फ़रवरी 2011

कोई लौटा दे मेरे बीते हुए दिनःकौमार्य वापसी के लिए क्रेजी हुईं चंडीगढ़ की लड़कियां

शादी से पहले बन गए जिस्मानी संबंधों को ढांपने के लिए सिटी ब्यूटीफुल में बालाएं रिवर्जिनिटी की सर्जरी कराने को आतुर है। शहर में इस तरह के मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इन दिनों शादी का सीजन है और जिन युवतियों के पहले से ही जिस्मानी संबंध बन गए है वो अब रिवर्जिनिटी की सर्जरी का सहारा लेकर अपने पति को वर्जिन होने का सबूत पेश कर रही है।

मामला यहीं नहीं थम रहा। रिवर्जिनिटी की इस दौड़ में शादीशुदा महिलाएं भी शुमार है और शादी की 15वीं और 25वीं सालगिरह पर रिवर्जिननिटी का तोहफा देकर पति को कायल बना रही है। ऐसे में पति भी अपनी नाजनीनों के तोहफों पर फिदा हैं। शहर के डॉक्टरों के मुताबिक सप्ताह में इस तरह की चार औसे पांच सर्जरी हो रही है।

देश ही नहीं एनआरआई और विदेश की बालाएं भी इस सर्जरी को कराने के लिए सिटी ब्यूटीफुल का रुख किए हुए है। युवतियां वर्जिनिटी खो जाने पर मैरिड लाइफ बचाने की कोशिश में जुटी है तो युवक भी पीछे नहीं है। उन्हें भी युवतियों की तरह समाज के चलन का दंश सताए हुए है। इस कड़ी में लड़कियां करवा रही हैं हाइमोप्लास्टी या रीवर्जिनाइजेशन और लड़के करवा रहे हैं मेल ब्रेस्ट रिडक्शन जिसे गाइनोकोमेजिया कहा जाता है।

सोसायटी का डर
इंडियन सोसायटी में शादी से पहले लड़की के जिस्मानी संबंध हो जाए तो उसकी मैरीड लाइफ में तूफान आ जाता है। इसी डर की वजह से सिटी गल्र्स रिवर्जिनाइजेशन जैसी प्लास्टिक सर्जरी करवा रही हैं। सिटी डॉक्टर्स के पास एक हफ्ते में ही इस तरह के तीन से चार केस आ रहे हैं। इस हाइमनोप्लास्टी सर्जरी के लिए फेमस डॉ.तेजिंद्र भट्टी ने बताया इंडिया में यह कंसैप्ट कई सालों से है लेकिन सिटी की बहुत कम लड़कियां इसे करवाती थीं। लेकिन विदेश से इसके काफी पेशंट आते रहते थे। आजकल मैरिज सीजन चल रहा है जिसके चलते अब सिटी के केस बढ़ते ही जा रहे हैं।

लड़कियां सोसायटी और अपने मैरिड रिलेशन में प्रॉबलम न आ जाए इस डर से यह सर्जरी करवा रही हैं। हाल ही में होने जा रही अपनी शादी की तैयारियां कर रही अनु वर्मा ने रिवर्जिनाइजेशन करवाया है। अनु एनआरआई है जो सिटी में शादी करने जा रही हैं। अनु ने बताया कि विदेश में फीजिकल रिलेशन बनाना आम बात है। मेरे भी बने लेकिन जिस लड़के से मेरी शादी होने जा रही है वह इंडियन है और ट्रेडिशनल भी,आगे चल कर उसे मेरी मैरिड लाइफ में प्रॉबलम न आए इस लिए मैंने इस सर्जरी को चंडीगढ़ में करवाया क्योंकि विदेश में यह बहुत महंगी पड़ती है।

इंडियन सोसायटी में अभी भी कुछ पेरंट्स है जो बच्चों से बात कम करते हैं इसी वजह से ही यंगस्टर्स आजकल गलत और मनमाने रिलेशंस में पड़ रहे हैं और उस इंसान से मैरिज न होने से या ब्रेकअप होने पर अपनी मैरिड लाइफ के लिए टैंशन में आ जाते हैं,खासकर लड़कियां।क्योंकि आज भी सोसाइटी में शादी से पहले गल्र्स का वर्जिन होना जरूरी है।

लेकिन मेरे हिसाब से आजकल लड़कियों को सर्जरी करवाने से अच्छा है कि वह अपने रिलेशन फैमिली और पति के साथ शेयर करने चाहिए क्योंकि अगर एक आदमी के एक्सट्रा अफेयर होने पर लड़की उसे अपनाती है तो लड़के क्यूं नहीं ऐसी लड़कियों को अपना सकते। सोसायटी में ऐसी सर्जरी जैसे ट्रैंड का होना, इस चीज की गवाही देता है कि अभी भी मारी सोसायटी में पुराने ख्यालात लोगों पर हावी हैं।

एनीवर्सरी गिफ्ट के तौर पर यह सर्जरी
रीवर्जिनाइजेशन की एक्सप्र्ट डॉ.रीता सेखों की माने तो सिर्फ मैरीज के लिए ही सिटी गर्ल्स यह सर्जरी नहीं करवा रहीं बल्कि मैरीड लेडीज के भी इस सर्जरी के लिए बहुत केस आ रहे हैं। डॉ. रीता ने बताया कि बहुत सी मैरीड वीमेन अपनी 15वीं और 25वीं एनीवर्सरी पर हसबैंड को यह सर्जरी करवा कर उन्हें गिफ्ट देती हैं। साइकेटरिस्ट बी.के.बरेच का कहना है कि लेडिज का यह कदम भी बहुत ही सरप्राइज्ड करने वाला है(पूजा परमार,दैनिक भास्कर,चंडीगढ़,2.2.11)।

7 टिप्‍पणियां:

  1. ये खबर पूरी तरह से डाक्टरों की फैलाई लग रही है अपनी दुकान चलाने के लिए | मै डाक्टर तो नहीं हु पर इतना तो जानती हु की आज के समय में लड़किया शारीरिक रूप से जितनी एक्टिव हुई है खेलना कूदना साईकिल चलना गुमाना फिरना इत्यादि उस कारण वर्जिनिटी जाचने की पतियों के पुराने तरीके अब बेकार है इस बात से लडके भी वाकिफ है और लड़किया भी बिना डाक्टर के चेकअप के आप किसी भी लड़की के वर्जिनिटी का पता नहीं लगा सकते है |

    उत्तर देंहटाएं
  2. पता नहीं क्या सही है , पर एक बात जरूर है बिना डाक्टर के चेकअप के आप किसी भी लड़की के वर्जिनिटी का पता नहीं लगा सकते है |

    यहा भी स्वागत है :-
    धर्म संस्कृति ज्ञान पहेली - 3
    जवाब देने का अंतिम समय शुक्रवार 2.00 बजे तक

    उत्तर देंहटाएं
  3. अगर ऐसा हो भी रहा है तो उसे हतोत्साहित करने की जरूरत है ,देशी या ट्रेडिशनल होने का मतलब ये नही है की लड़के इतना भी ना समझे.....

    उत्तर देंहटाएं
  4. लोग खुश रहने के तरीके तलाशते हैं, चाहे धोखा दे कर ही क्यों नहीं खुश हों। इस खुशी से कुछ लोग अपनी खीर-पूरी चलाते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. ab aysa h... open ho ya pack kaam to vahi hona h na boss....

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।