सोमवार, 7 फ़रवरी 2011

आपका भोजनःसेहत का शत्रु या मित्र?

भोजन आपकी सेहत का दोस्त भी हो सकता है और दुश्मन भी। भोजन ही है जो तय करता है कि आप १०० साल जिएँगे या ५० साल। आपके द्वारा लिया जाने वाला भोजन आपकी सेहत का शत्रु है या मित्र? आइए जानते हैं:-

1. आप फास्टफूड खाते हैं-

क- कभी-कभी।

ख- अकसर।

2. कॉफी और कोल्डड्रिंक -

क-कभी-कभी लेते हैं।

ख- स्थाई हिस्सा है।

3. आपको पसंद है-

क- बिलकुल कम मसाले वाला भोजन

ख- काफी तला हुआ और मसालेदार भोजन

4. खाने के बाद आप नियमित डिजर्ट में लेते हैं-

क-देशी गुड़
ख-चॉकलेट्स

5. नूडल्स देखते ही -

क- कभी-कभी खाते हैं।

ख- मुँह में पानी आ जाता है।

6. रोटियाँ जिस आटे की खाते हैं उसका चोकर-

क- नहीं निकला होता

ख- निकला हुआ होता है

7. आपके लिए चावल का मतलब है-

क- सफेद मांड निकला हुआ चावल

ख-पुलाव या फ्राइड राइस

8. बाजार में मौजूदा सभी चिप्स और वेफर्स ब्रांडों के नाम आप-

क- एक दो का ही नाम याद है।

ख- अच्छी तरह यानी उनकी कीमत और स्वाद भी जानते हैं।

9. आपके लिए चटनी का मतलब है-

क- मौसमी फलों और सब्जियों से बनी घरेलू चटनी।

ख- बाजार में बिकने वाला पैक्ड सॉस।

10. शराब से आपका मतलब है

क- नुकसानदायक पेय

ख- जीवन शैली का हिस्सा।

11. प्रतिदिन भोजन आप-

क- समय पर लेते हैं।

ख- बेहद लापरवाह हैं।

12. व्यायाम को लेकर आप-

क- बहुत प्रतिबद्ध हैं।

ख-व्यायाम से नफरत है।

13. गैस, थकान, सिरदर्द जैसी समस्याओं को आप

क- नहीं जानते क्या होती हैं।

ख- खूब परिचित हैं।

निष्कर्ष
यहाँ सभी सवालों के दो जवाब हैं। यानी पहला (क) सकारात्मक जवाब है दूसरा(ख) नकारात्मक जवाब है। पहले सकारात्मक जवाब यानी "क" के लिए ५ अंक दिए गए हैं। दूसरे जवाब यानी "ख" के लिए ० अंक दिए गए हैं। अगर आपने ईमानदारी से उन्हीं जवाबों पर टिक किए हैं जो आप पर लागू होते हैं। इस तरह आपने ५० या उससे ऊपर अंक हासिल किए हैं तो इसका मतलब है कि आपके द्वारा लिया जाने वाला भोजन आपकी सेहत का मित्र है। यदि आपके द्वारा हासिल अंक ४५ से ३५ के बीच हैं तो आप सजग तो हैं पर स्वाद के आगे फिसल जाते हैं, लेकिन यदि आपके द्वारा हासिल अंक ३० से कम हैं तो संभल जाइए, आपके द्वारा लिया जाने वाला भोजन आपका पूरी तरह से शत्रु है(पिंकी,सेहत,नई दुनिया,2.1.11)।

4 टिप्‍पणियां:

  1. एक बार फ़िर से बुकमार्क करने लायक पोस्ट । बहुत ही काम की जानकारी दी आपने राधारमण जी । आज फ़ास्ट फ़ूड प्रवृत्ति ने भारतीय समाज में भी उन सब बुराइयों का समावेश कर दिया है जो पश्चिमी समाज में दिखाई दे रहे हैं । आभार जानकारी के लिए

    उत्तर देंहटाएं
  2. मेरे भी 40,

    किन्तु कहीं कहीं दो ऑपसंस के बीच मध्य बिंदु की आवश्यकता महसुस हुई।

    उत्तर देंहटाएं
  3. देसी गुड और चौकलेट में क्या फर्क है ?

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।