बुधवार, 12 जनवरी 2011

कारगर साबित हो रहा है ओरल इन्सुलिन

मधुमेह के रोगियों को अभी सुई द्वारा इंसुलिन दिया जाता है जो दर्द देता है, पर इसके बदले में अब ओरल इंसुलिन बेहद कारगर साबित होने लगा है। देश के मशहूर अग्रणी फार्मा कंपनी बायोकोन ने मधुमेह के उपचार के लिए हाल ही में आईएन १०५ ओरल इंसुलिन पर किए गए सर्वे के प्राथमिक आंक़ड़ों को प्रस्तुत किया । कंपनी के मुताबिक इसके परिणाम उत्साहजनक रहे हैं। बायोकोन ने यह सर्वे मधुमेह के २६४ मरीजों पर देशभर के विभिन्न केंद्रों में कराया, जहां उन्हें प्रायोगिक औषधि दी गई। प्राथमिक विश्लेषणों के अनुसार आईएन १०५ एचबीएवनसी स्तर को ०.७ प्रतिशत तक कम करने में नाकाम रही । हालांकि बाद में इससे अनपेक्षित परिणाम भी देखने को मिले हैं। बायोकोन प्रबंध निदेशक एवं अध्यक्ष किरण मजुमदार शॉ ने कहा कि सर्वे के अच्छे परिणाम मिलने के बाद बायोकोन आईएन १०५ के वैश्विक विकास के लिए प्रतिबद्ध है जिसे एक बहुराष्ट्रीय फार्मा कंपनी के साथ मिलकर आगे ब़ढ़ाया जाएगा तथा दोनों कंपनियों के बीच साझेदारी के लिए जल्द ही बातचीत शुरू करने का निर्णय लिया गया है। बायोकोन में अनुसंधान एवं विकास उपाध्यक्ष डॉ. हरीश अय्यर ने कहा कि मरीजों पर किए गए इस प्रयोग के परिणामों से ओरल इंसुलिन के विकास के हमारे निर्णय को बल मिलता है । ज्ञातव्य है कि इस ओरल इंसुलिन से मधुमेह के मरीजों को वर्तमान में अपने उपचार के लिए इंजेक्शन के जरिए उपयोग में लाने वाली इंसुलिन से निजात मिल सकेगी(नई दुनिया,दिल्ली,12.1.11) ।

2 टिप्‍पणियां:

  1. Very nice... Keep us posted..

    How will oral insulin look like? will it be like a tablet? when it'll come to market?

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये बीमारी मेरी कजन को है यदि ये दवा जल्द ही बाजार में आ जाये तो उसके कास्ट के दिन दूर हो सकते है | अच्छी जानकारी के लिए धन्यवाद |

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।