शुक्रवार, 15 अक्तूबर 2010

हरियाणाःमामूली बीमारी पर किया रेफर तो होगी कार्रवाई

अब हरियाणा के स्वास्थ्य केंद्रों व जिला अस्पतालों के रोगियों को गंभीर हालत में ही पीजीआई रोहतक रेफर किया जाएगा । मुख्य संसदीय सचिव, स्वास्थ्य विभाग रामकिशन फौजी ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पीजीआई रोहतक के स्टैंडर्ड में और सुधार करके इसे चंडीगढ़ व दिल्ली के हॉस्पिटल की कैटिगरी में लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि पीजीआई में वे सभी सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी, जो किसी भी गंभीर बीमारी के मरीज के लिए जरूरी होती है। इसके लिए बजट की कोई कमी नहीं आने दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इस प्रस्ताव पर सीएम ने अपनी मुहर लगा दी है। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य केंद्रों और जिला हॉस्पिटलों में इलाज संभव नहीं होने पर ही मरीज को पीजीआई, रोहतक भेजा जाएगा। इसमें किसी भी प्रकार की कोताही करने वाले डॉक्टरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। फौजी ने कहा कि देखने में आया है कि प्रदेश के कुछ डॉक्टर अपनी जवाबदेही से पीछा छुड़वाने के लिए रोगियों को मामूली बीमारी होने पर भी पीजीआई रोहतक रेफर कर देते है। इससे जहां रोगियों के धन और समय की बर्बादी होती है, वहीं पीजीआई में इलाज करवा रहे गंभीर रोगियों की चिकित्सा पर भी असर पड़ता है(नवभारत टाइम्स,चंडीगढ़,15.10.2010)।

1 टिप्पणी:

  1. रेफेरल सिस्टम की तो दिल्ली में भी बहुत ज़रुरत है ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।