गुरुवार, 2 सितंबर 2010

घसीटा लिखावट से नहीं,कंप्यूटर से बने रिपोर्ट

पोस्टमार्टम और एमएलसी रिपोर्ट में डाक्टरों की घसीटा लिखावट जारी है। दिल्ली में कोर्ट के आदेश के चार महीने बीत जाने के बावजूद अधिकांश अस्पतालों में कंप्यूटर से पोस्टमार्टम रिपोर्ट बनाना शुरू नहीं किया गया। आदेश के बाद स्वास्थ्य विभाग द्वारा राजधानी के सभी अस्पताल प्रशासन को निर्देश दिया गया था कि पोस्टमार्टम और एमएलसी रिपोर्ट कंप्यूटर से तैयार की जाए। लेकिन अधिकांश अस्पतालों ने कोर्ट को बताया कि उनके पास कंप्यूटर कर्मचारियों सहित सुविधाओं की कमी है, जिससे कंप्यूटर से रिपोर्ट बनाना वर्तमान में संभव नहीं है। राजधानी के मंगोलपुरी स्थित संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल व जहांगीरपुरी का बाबू जगजीवन राम अस्पताल साहित कई अन्य अस्पतालों द्वारा पोस्टमार्टम रिपोर्ट कंप्यूटर से तैयार नहीं किए जा रहे हैं। जबकि अप्रैल महीने में अदालत ने स्वास्थ्य विभाग को नोटिस जारी कर पोस्टमार्टम और एमएलसी रिपोर्ट कंप्यूटर से तैयार करने के आदेश दिए थे। हरि नगर स्थित दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल आदेश का पालन करते हुए रिपोर्ट कंप्यूटर से तैयार कर रहा है। हत्या के एक मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट पढ़ने में कठिनाई उत्पन्न होने पर रोहिणी जिला कोर्ट के अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश संजीव कुमार ने स्वास्थ्य विभाग को नोटिस जारी कर इसके आदेश दिए थे(नई दुनिया,दिल्ली,2.9.2010)।

1 टिप्पणी:

  1. हो जाएगा इसका भी इलाज हो जाएगा. कुत्ते की पूंछ यूं ही आसानी से सीधी कहां होती है.

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।