शनिवार, 7 अगस्त 2010

गर्भपात के बाद पुन: गर्भधारण में देर जरूरी नहीं

गर्भपात के बाद गर्भधारण के लिए छह माह इंतजार करने की जरूरत नहीं है। जिन महिलाओं का गर्भपात हो गया है उन्हें फिर से गर्भधारण करने में विलंब नहीं करना चाहिए। भारतीय मूल की शोधकर्ता सोहिनी भट्टाचार्य के नेतृत्व में 30,000 से अधिक महिलाओं की रिपोर्ट का अध्ययन करने के बाद यह बात कही गई है । एबरडीन विश्वविद्यालय की सोहिनी भट्टाचार्य और उनकी टीम ने पाया है कि गर्भपात के छह माह बाद फिर से गर्भधारण का विचार करने वाली महिलाओं के पास स्वस्थ गर्भ धारण का सबसे अच्छा मौका होता है तथा इसमें समस्या की दर भी कम होती है। सोहिनी के मुताबिक एक बार गर्भपात का सामना कर चुकी महिलाओं को फिर से गर्भधारण करने के लिए कम से कम छह माह तक इंतजार करने का सुझाव देने वाले विश्व स्वास्थ्य संगठन के मौजूदा दिशा-निर्देशों की समीक्षा किए जाने की जरूरत है। अध्ययनकर्ताओं ने बताया कि जिन महिलाओं का एक बार गर्भपात हो चुका है, दूसरी बार भी उनके गर्भपात होने का खतरा बढ़ जाता है और आगे गर्भावस्था में दिक्कत होती है लेकिन दंपती को बच्चे के लिए फिर से कोशिश करने से पहले इंतजार करने के समय की यह अवधि सुसंगत नहीं है(हिंदुस्तान,दिल्ली,7.8.2010)।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।