सोमवार, 5 जुलाई 2010

मुंबई में खुला एशिया का सबसे बड़ा अस्पताल

देश के नागरिकों को अच्छी स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध करना बेहद जरूरी है। नागरिकों का स्वास्थ्य अच्छा रहेगा तो देश का विकास होगा, इन शब्दों में रविवार को राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल ने स्वास्थ्य सेवा की अहमियत बयान की। उनके हाथों सुबह मुंबई के अंधेरी स्थित बनाए गए एशिया के सबसे बड़े सेवनहिल्स अस्पताल का उद्घाटन हुआ। राष्ट्रपति ने जीवनशैली के चलते बढ़ रही बीमारियों पर भी बात की। मरोल में १५०० बेड का सेवन हिल्स अस्पताल बन रहा है जिसमें से ३०० बेड की सुविधाएं आज से मरीजों को उपलब्ध कराई गई हैं। राष्ट्रपति ने कहा,देश के युवा वर्ग को अच्छी शिक्षा और उचित स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने से देश के आर्थिक विकास में गति आएगी। आर्थिक तरक्की के लिए बेहतरीन स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध होनी चाहिए। हमारा देश जनसंख्या के लिहाज से विश्व का दूसरे नंबर का देश है। गरीब और निचले तबके के लोगों को उचित स्वास्थ्य सेवा नहीं मिल पा रही है। राष्ट्रपति ने कहा, निजी क्षेत्र और सामाजिक संगठनों के साथ मिल कर इन लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध करानी चाहिए । हम अब भी सभी को स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध नहीं करा पाए हैं। राष्ट्रपति ने मेडिकल संस्थानों से अपील की कि वह गांवों में जाकर आरोग्य शिविरों का आयोजन करें(नई दुनिया,दिल्ली,5.7.2010)।

2 टिप्‍पणियां:

  1. अच्छी जानकारी है । अब हम भी विश्व में चिकित्सा के क्षेत्र में किसी से कम नहीं । लेकिन गरीबों का भी ख्याल रखना ज़रूरी है ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. ये बड़े अस्पताल कितने गरीबों के काम के हैं .
    सरकार और सरकारी लोग वक्तव्य ज्यादा देते हैं . पिछले 25 सालों में कितने बड़े अस्पताल और मेडिकल कॉलेज सरकरों ने प्रारंभ किए ?

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।