सोमवार, 3 मई 2010

मेथी की दवा डायबिटीज के लिए

मेथी में प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है। यह हमारे शरीर की पाचनशक्ति व भूख को भी बढ़ाती है। यह एक प्रामाणिक तथ्य है कि मेथीदाने में फॉस्फेट, लेसिथिन और न्यूक्लिओ-अलब्यूमिन, फोलिक एसिड, मैग्नीशियम, सोडियम, जिंक, कॉपर आदि जैसे पोषक तत्व होते हैं। यह आमवात(arthritis) वात रोग(arthritis), विषम ज्वर, अपस्मार(मिरीगी रोग) प्रमेह (diseases of the urine) , प्रदर रोग, कफ़ज एवं वातज प्रकृति के मनुष्य के लिए उपयोगी है। यह शीत ऋतु मे पथ्यसमान, बलवर्धक, एवं वीर्यवर्धक भी है। आलू-मेथी की सब्जी मशहूर है। पतले परांठे के साथ भी उनका आनंद लिया जा सकता है। पेट संबंधी विकारों को दूर करने और कांतिमय त्वचा के संबंधी इसके गुणों के बारे में भी काफी खबरें छपती रही हैं। मेथी-दाना के उपयोग से डायबिटीज को नियंत्रित करने की बात आयुर्वेद कहता तो है मगर शायद यह पहली बार है जब मेथी से बनी कोई दवा बाजार में आई है। पढिए,आज के दैनिक ट्रिब्यून में राकेश कुमार की रिपोर्टः "दादी-नानी के नुस्खों से निकलकर मेथी फैनफ्यूरो अब एक नए रूप में सामने आई है। यह है फेनफ्यूरो- इनोवेटिव डायबिटीज मैनेजमेंट मेडिसिन। इस नई खोज के बारे में जानकारी कल चंडीगढ़ में,केमिकल रिसोर्सेज के सीईओ पवन गोयल ने पत्रकार वार्ता में दी। उन्होंने बताया कि फेनफ्यूरो एक आयुर्वेदिक प्रोपरेटरी दवा है, जिसमें एंटी-डायबिटिक गुण होने की बात वैज्ञानिक रूप से प्रमाणित हो चुकी है और इसके कोई साइड इफेक्ट भी नहीं हैं। गोयल ने कहा कि दुनियाभर में डायबिटीज चौथी ऐसी बीमारी है, जिससे सबसे ज्यादा लोगों की मौत होती है। हर साल 38 लाख लोग डायबिटीज से जुड़े कारणों के चलते मारे जाते हैं। दुर्भाग्यवश भारत में डायबिटीज पीडि़त लोगों की संख्या सबसे ज्यादा है। देश में 4 करोड़ 10 लाख लोग इससे पीडि़त हैं, जो देश की वयस्क जनसंख्या का 6 फीसदी बैठता है। गोयल ने कहा कि आयुर्वेद भारत के लिए नया नहीं है और इसीलिए मेथी के महत्व को समझना जरूरी है। मेथी को इनोवेटिव तरीके से इस्तेमाल करते हुए डायबिटीज से निपटा जा सकता है और फेनफ्यूरो इसी की एक मिसाल है। विभिन्न स्टडीज से पता चलता है कि खाने में मेथी के इस्तेमाल से ब्लड शुगर लेवल सामान्य होता है और यह खाने के बाद ग्लूकोज को बर्दाश्त करने की क्षमता को भी बढ़ाता है। मेथी के तत्व इनसुलिन स्तर बढ़ाने और ग्लूकोज का स्तर सामान्य करने में मददगार हैं। नाईपर के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ. पवन बंसल ने बताया कि फेनफ्यूरो की शुरुआती क्लिनिकल स्टडी से साबित हुआ है कि इसमें एंटी डायबिटिक गुण हैं और यह नॉन टॉक्सिक भी है। इनसानों के लिए इसे लेना सुरक्षित है। इसी संस्थान में एडवाइजर डॉ. राकेश जसवाल ने बताया कि कमर्शियल इस्तेमाल से पहले फेनफ्यूरो को तमाम टेस्ट्स से गुजारा गया। इसके बाद ही नाईपर ने इसे मान्यता दी है। फोर्टिस अस्पताल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. एचके बाली ने कहा कि दिल की बीमारियों और दिल के दौरे के पीछे डायबिटीज एक अहम वजह है।"

4 टिप्‍पणियां:

  1. मैथी के दाने सुबह खाली पेट ६-८ रोज गटक लेते हैं..डायबटीज़ कंटओल रहता है. अच्छा है कि यह दवा आ गई. आभार जानकारी का.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. क्रपा दवाई का नाम बताएं

      हटाएं
  2. मेथी कितना तथा कैसे लेना लाभप्रद रहेगा तथा इसके और क्या लाभ है ,बताये
    y k sharma

    उत्तर देंहटाएं
  3. bahut hi sargarbhit jankari mili sadar dhanyvad....nimit sevan karata hoon

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।