गुरुवार, 13 दिसंबर 2012

होंठों को फटने से बचाएँ

ठंड के मौसम में सबसे ज्यादा आफत हमारे नाजुक-मुलायम होंठों पर आती है। चूंकि इनके नीचे तेल ग्रन्थियां न होने के कारण ये शीत के प्रकोप के जल्दी शिकार होते हैं। इस कारण इनकी मुलायम त्वचा कटने-फटने लगती है। ये एक तरह से कुरूप व रुखे-सूखे हो जाते हैं। इन कटे-फटे होंठों को नमी व चिकनेपन की सख्त आवश्यकता होती है। इन फटे होंठों का सौन्दर्य फिर से कैसे निखारें? ये हैं कुछ उपयोगी टिप्स :- 

-शीत से सिकुड़े, फटे या झुलसे होंठों पर गुनगुनी मलाई से केसर की पंखुडिय़ां घोंटकर, इस लेप की मसाज होंठों पर दिन में दो या तीन मर्तबा करें। धीरे-धीरे होंठ फिर से अपनी प्राकृतिक अवस्था में होने लगेंगे। -इन फटे होंठों पर जलन भी खूब होती है, अत: इन पर जिंक आक्साइड का पेस्ट बनाकर लगाएं। जलन से छुटकारा मिलेगा। 

-होंठ बार-बार फटने लगे तो थोड़े से घी में चुटकी भर नमक मिलाकर होंठों पर लेप करें, होंठ फटने से बचे रहेंगे। 

-फटे होंठों पर ताजा लाल गुलाब के फूलों का रस मलें। फटे होंठों की त्वचा जुडऩे लगेगी तथा होंठों पर गुलाबी रंगत भी दमकने लगेगी। -होंठों की अच्छी सेहत के लिए स्नान पूर्व एरण्ड के तेल की मसाज करें। 

-सर्दियों में होंठों को फटने से बचाए रखने के लिए इन पर करम कल्ला या पालक से पत्तों का रस मलें। 

-ग्लिसरीन में नींबू का रस मिलाकर होंठों पर मलने से उनका रूखापन दूर होता है। 

-होंठों की त्वचा को नम रखने के लिए तेलयुक्त साबुन से स्नान करें।

-जाड़े में होंठ फटने पर कई मर्तबा खून भी रिसने लगता है। इन पर शहद में हल्दी पाउडर मिलाकर लेप करें। होंठ फिर से नरम-मुलायम होने लगेंगे व खून का रिसना भी बंद होगा। 

-होंठों को फटने से बचाने के लिए तलवों व नाभि पर सरसों के तेल की मालिश करें। रात्रि में सोने से पूर्व होंठों पर सरसों के तेल की हल्की-सी परत चढ़ा लें। 

-भोर में होंठों पर ठंडी-ठंडी ओस मलें। ठंडी ओस से होंठों को अच्छी नमी व प्राकृतिक लाली मिलेगी। -शरीर में तेल की कमी होते ही होंठों पर सफेद पपड़ी या परत जमने लगती है, जो भद्दी दिखाई देती है, अत: भोजन में चिकने पदार्थ शामिल करें। सुबह-शाम दूध सेवन करें। केला, पपीता, चीकू आदि होंठों को नमी पहुंचाते हैं। 

-गाजर, सेब, शलजम, टमाटर आदि का रस पीने से इन दिनों होंठों का सौन्दर्य खिला-खिला रहता है। -फटे होंठों की दशा सुधारने के लिए पान का मीठा पत्ता चबा-चबाकर खायें, उसकी लार होंठों पर फेरें। 

-जायफल को दूध में घिसकर होंठों पर मलने से इनका रूप रंग निखरता है। दूध में शहद घोलकर होंठों पर आहिस्ता-आहिस्ता मलने से ये नमीयुक्त बनते हैं। 

 -फटे होंठों पर फिटकरी के पानी का लेप करें। होंठ जुडऩे लगेंगे, पेट को सदा साफ रखें, इन दिनों कब्ज की शिकायत भी होंठों के सौन्दर्य को तहस-नहस कर देती है। अत: फलों का जूस व हल्का-फुल्का भोजन करें ताकि कब्ज दूर हो सके। 

-इन दिनों होंठों का सौन्दर्य निखरा-निखरा रखने के लिए लिपिस्टिक के ऊपर लिप ग्लोज का प्रयोग भी करें, इससे यह जल्दी सूखेगी नहीं और होंठों पर चमक भी रहेगी। -सर्दियों में होंठों की नमी बरकरार रखने के लिए गोले, खुबानी, बादाम पिंड खजूर आदि का सेवन करें। -सर्दियों भर होंठों का मिजाज खुश रखने के लिए इन पर ग्वार पाठे का गूदा मलें(अर्चना सौगानी,दैनिक ट्रिब्यून,10.12.12)।

दैनिक भास्कर,उज्जैन संस्करण,21.11.2012 में छपे कुछ सुझावः 

- नित्य दो बार होंठों पर ग्लिसरीन लगाने से लाभ होता है। 

- इलायची पीस कर मक्खन में मिलाकर रोज दिन में दो बार कम से कम सात दिन लगाएं। 

 - गुलाब के फूल को पीसकर उसमें थोड़ी सी मलाई या दूध मिलाकर होंठों पर लेप करें। 

 - नहाने से पहले हथेली में चौथाई चम्मच मूंगफली का तेल लेकर अंगुली से हथेली में रगड़े। फिर होंठो पर इसकी मालिश करें। होंठो के लिए यह लाभप्रद है। 

 - सोने से पहले सरसों का तेल नाभि पर लगाने से होंठ नहीं फटते। 

- घी में जरा सा नमक मिलाकर होंठों व नाभि पर लगाने से होंठ फटना बंद हो जाते हैं। -पांच बादाम रोज सुबह-शाम खाने से होंठ नहीं फटते। 

 16 दिसम्बर,2009 को,नवभारत टाइम्स में भी कई उपयोगी टिप्स थेः 

- अपने बैग में चिपस्टिक जरूर कैरी करें। अगर आप ठंड में ज्यादा बाहर निकलती हैं, तो हर बार बाहर निकलने से पहले चिपस्टिक को अच्छी तरह होंठों पर लगा लें। 

- फैटी एसिड, विटामिन बी व आयरन की कमी से भी होंठ फट जाते हैं। ऐसे में आप डॉक्टर की सलाह से मल्टीविटामिन टेबलेट लें, ताकि आपके होंठ फटे नहीं। 

- खूब पानी पीएं। इससे होंठों की नमी बरकरार रहती है और वे फटते भी नहीं हैं। अगर आपको डिहाइड्रेशन की प्रॉब्लम है, तो जाहिर है कि आपके होंठ भी ड्राई नहीं होंगे। इसलिए दिन में थोड़ा-थोड़ा करके कई बार पानी पीएं। 

- आप जब लिपस्टिक, लिप ग्लॉस, चिपस्टिक वगैरह खरीदती हैं, तो उसे दो बार जरूर चेक करें। कभी-कभार इनसे एलजीर् होने के चांस भी होते हैं। इसके अलावा माउथ वाश के कारण भी एलजीर् हो सकती है, इसलिए इन्हें खरीदने से पहले आप डॉक्टर की सलाह जरूर लें। 

 - आप जो भी लिप बॉम या चिपस्टिक लेती हैं, उसका एसपीएफ-15 तक जरूर होना चाहिए। 

 - अगर होंठ ज्यादा ड्राई हो गए हैं, तो उन्हें रगड़े नहीं। अक्सर ऐसी कंडिशन में होंठों से खून आने लगता है और चेहरा धोते समय जलन भी होती है। 

 - अगर आपको लिपस्टिक लगाने का शौक है, तो क्रीम बेस लिपस्टिक लें। इससे आपके होंठों को पूरी नमी मिलेगी। 

- टुथब्रश से होंठों को हल्के से रगड़ें। इससे आपकी सारी डेड स्किन निकल जाएगी। 

- अगर होंठों में इंफेक्शन होने का खतरा रहता है, तो ऐसे में आप एलोवेरा जेल यूज करें। 

- विटामिन ए स्किन को हेल्दी बनाता है। आप अपनी डाइट में विटामिन ए युक्त चीजें शामिल करें, मसलन अनाज, गाजर, टमाटर और हरी पत्तेदार सब्जियां।

6 टिप्‍पणियां:

  1. काफी उपयोगी जानकारी !

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छी जानकारी....
    खासतौर पर बच्चों के होंठ फट जाते हैं धूल और ठंडी हवा से....

    आभार
    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी और उपयोगी जानकारी।

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत अच्छी व उपयोगी जानकारी ! ख़ासकर बच्चों के लिये...
    ~सादर!!!

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।