बुधवार, 17 अक्तूबर 2012

पेशेवरों के लिए त्वचा की देखभाल

जरा रुककर सोचिए। लोग सबसे पहले आपके बारे में क्या नोट करते हैं? सबसे पहले आपका चेहरा ही लोगों की नजर में आता है। आप चाहे किसी भी प्रोफेशन में क्यों न हों, चाहे फ्रंट डेस्क पर हों या बेक स्टेज में लेकिन चेहरे की त्वचा को आप लंबे समय तक दूसरों से छिपा नहीं सकते। स्वस्थ एवं चमकदार त्वचा रोज की देखभाल से हासिल होती है। आइए,जानते हैं कि अलग-अलग प्रोफेशन में काम कर रहे लोगों को इसके लिए क्या करना चाहिए। 

कई प्रोफेशन ऐसे हैं जिसमें रोज धूप और धूल का सामना करना पड़ता है। त्चचा के छिद्रों में धूल जमा हो जाने के कारण वह "साँस" नहीं ले पाती। दूसरे व्यावसायिकों को अधिकतर घंटे ऑफिसेस के बंद कमरों में बिताना पड़ते हैं। इससे भले ही उनकी त्वचा धूल और धूप से बच जाती है लेकिन फिर भी देखभाल की जरूरत पड़ती ही है। 

रिपोर्टर 
मीडिया रिपोर्टिंग एक ऐसा काम है जिसमें तनाव पूर्ण परिस्थितियों एवं वातावरण में तेजी से घूम-फिरकर खबरें इकट्ठा करना होती हैं। डेड लाइन होने के कारण एक स्थान से दूसरे तक लगभग दौड़ते हुए आना जाना पड़ता है। ऐसे व्यावसायिकों को त्चचा की देखभाल करने के लिए पर्याप्त समय ही नहीं मिल पाता है। 

क्या करें 
चेहरे को साबुन से साफ करने की बजाए फेसवॉश से साफ करें। जेल फेसवॉश का चयन करें। रोज सनस्क्रीन एसपीएफ-२५) का प्रयोग करें। यदि चेहरे पर बहुत पसीना आता है तो इसे बार-बार धोएँ। यदि त्वचा बहुत ऑइली है तो सनस्क्रीन में केलामाइन लोशन मिला लें। लिक्विड फाउंडेशन का भी इस्तेमाल कर सकते है। मिनरल पावडर मेकअप अच्छा होता है क्योंकि इसमें ३० एसपीएफ ग्रेड की सनस्क्रीन भी होती है। त्वचा की सफाई के लिए टोनर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि इससे रोमछिद्र से धूल निकल जाती है और वे टाइट हो जाते हैं। हर तरह की त्वचा के लिए रोज रात को सोते समय मॉइश्चराइजिंग क्रीम लगाना जरूरी है। ऑइली स्किन के लिए लोशन का प्रयोग करें जबकि ड्राय स्किन के लिए क्रीम वापरें। बालों को रोज माइल्ड बेबी शैम्पू से साफ करें। शैंपू करने के बाद कंडीशनर भी लगाएँ। बालों की लंबाई कम करें। महीने में एक बार क्लीनअप या फेशियल जरूर कराएँ। 

बीपीओ, कॉल सेंटर 
इस तरह की जॉब प्रोफाइल नाइट शिफ्ट में काम करने की माँग करती है। इससे बायोलॉजिकल क्लॉक शिफ्ट हो जाती है। अंडर आई सर्कल, तनाव के कारण एक्ने, डेंड्रफ, बाल गिरना, हमेशा एअरकंडीशन्ड वातावरण में बैठने से त्वचा में रूखापन आना आम समस्याएं हैं। जागते रहने के लिए कर्मचारी धूम्रपान भी करने लगते हैं। इन लोगों की भोजन की आदतें भी अस्वास्थ्यकर हो जाती हैं। दिन में कभी भी नींद पूरी नहीं हो पाती है। तनाव और जंकफूड खाने के कारण हमेशा पेट खराब रहता है। मल पूरी तरह साफ नहीं हो पाता। इससे त्वचा पर विपरीत असर पड़ता है। 

क्या करें 
एक्ने और एक्ने स्कार से निपटने के लिए विटामिन-सी का हाई डोज़ नियमित रूप से लें। नींबू का सेवन रोज़ करें। रात को ड्यूटी के समय सनस्क्रीन और मॉइश्चराइजर ज़रूर लगाएं। काम पर रहते समय फ्रूट जूस ज़रूर लेते रहें। हर महीने क्लीनअप और फेशियल ज़रूर कराएं।

मार्केटिंग 
इस प्रोफेशन में दिन भर भागम-भाग लगी रहती है। टारगेट पूरा करने का तनाव होता ही है। प्रदूषण और धूप के कारण त्वचा क्षतिग्रस्त होती है। इसी के साथ बाल गिरने की भी समस्या होती है। 

क्या करें 
एसपीएफ-30 का सनस्क्रीन नियमित रूप से हर दो से तीन घंटों बाद लगा लें। धूप में बाहर निकलते समय सनग्लास,टोप या छतरी का प्रयोग करें। विटामिन-सी और एंटीऑक्सीडेंट्स की गोलियां नियमित रूप से लें। हीट स्ट्रोक और डीहाइड्रेशन की समस्या भी हो सकती है। इसलिए पेयजल लेना न भूलें। हाइपर एसिडिटी की वजह से रैशेज और त्वचा फटने की शिकायत हो सकती है। सुबह खाली पेट एसिडिटी की गोली चिकित्सक की सलाह से ली जा सकती है। ख़राब फूट वेअर से गोखरू(कॉर्न) हो जाते हैं। इनसे बचने के लिए अच्छी क्वालिटी के फुटवियर पहलें। कॉटन की पोशाकें पहनने की कोशिश करें। इससे स्किन रैशेज नहीं होंगे। हर हफ़्ते स्क्रब और एक्सफोलिएंट का प्रयोग करें ताकि त्वचा के नीचे की तैल ग्रंथियों की रूकावट दूर हो जाए। 

आईटी प्रोफेशनल्स 
इन लोगों को लंबे समय तक एअरकंडीशनर वातावरण में बिताना पड़ते हैं। इन्हें नियमित रूप से कुछ घंटों बाद माइश्चराइजर का इस्तेमाल करना चाहिए। तनावपूर्ण काम के कारण आँखों के नीचे काले घेरे पड़ने लगते हैं। बाल शुष्क होकर गिरने लगते हैं। त्वचा रूखी-सूखी हो जाती है। की बोर्ड के लगातार प्रयोग करने से नाखून टूटने लगते हैं। 

क्या करें 
नियमित रूप से त्वचा की देखभाल के लिए समय निकालें। अच्छे दर्जे का जेल फेस वॉश (ऑइली स्किन) तथा क्रीम फेसवॉश (ड्राय स्किन) वापरें। जिनकी त्वचा नॉर्मल या ड्राय है उन्हें टोनिंग नहीं करना चाहिए। अगर त्वचा बहुत शुष्क है तो एक चम्मच अलसी रोज लें। इवनिंग प्राइमरोज ऑइल १००० एमजी भी ले सकते हैं। इससे त्वचा को अंदर से माइश्चराइजर मिलेगा। रात को सोते समय कोजिक एसिड और विटामिन-सी का मिश्रण आँखों के नीचे लगाएं। इससे त्वचा टाइट होगी। कम्प्यूटर पर काम के दौरान हर एक घंटे बाद १० मिनट का ब्रेक लें। रात को सोते समय कोल्ड आई पैड्स या खीरे के स्लाइस लगाएँ। नाखूनों को छोटे रखें क्योंकि कीबोर्ड से टकराकर लंबे नाखून क्षतिग्रस्त होते हैं। सोते समय उंगलियों में ऑलिव ऑइल का मसाज करें। हर महीने क्लीनअप कराएं। पेट साफ रखें और कम से कम दो लीटर पानी दिन भर में जरूर पिएँ।

कॉरपोरेट,फ्रंट डेस्क 
इस तरह की जॉब में भारी मेकअप का इस्तेमाल करना पड़ता है। इसकी वजह से एक्ने, एक्ने स्कार, ब्लेक हैड्स, व्हाइट हैड्स आदि त्वचा संबंधी समस्याएं हो जाती हैं। नियमित रूप से त्वचा की साफ सफाई तथा अच्छी क्वालिटी का स्किन केअर प्रॉडक्ट वापरना लाजिमी हो जाता है। घंटों तक एसी में रहने के कारण पूरे शरीर में ड्रायनेस आ जाती है। हैवी सूट और टाई गर्म और नमीयुक्त वातावरण में तकलीफ दायक हो जाते हैं। जो लोग कार्पोरेट सीढ़ी की उँची पायदानों पर हैं उन्हें अक्सर हवाई जहाजों में भी सफर करना पड़ता है। एअर ट्रेवल पूरे शरीर की नमी सोख लेती है। 

क्या करें 
सोते समय मेकअप रिमूवर के जरिए रोज चेहरा साफ करें। फेसवॉश और टोनर का इस्तेमाल करें। एसपीएफ-१५ सनस्क्रीन लगाएँ। माइश्चराइजर के साथ एंटी रिंकल क्रीम भी लगाएँ। हर महीने रिजुविनेटिंग फेशियल जरूर कराएं(अप्रतिम गोयल,सेहत,नई दुनिया,अक्टूबर प्रथमांक 2012)।

6 टिप्‍पणियां:

  1. उपयोगी जानकारी देता ... बेहतरीन आलेख

    उत्तर देंहटाएं
  2. जानकारी तो अच्छी है किन्तु घर पर रहने वाली हम महिलाओ के लिए भी कुछ होता तो हमारे भी काम आता :)

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छी जानकारी, प्रयास करते हैं देखभाल का.

    उत्तर देंहटाएं
  4. चलो जी आपका हुक्म सर माथे पर रखकर मानने कि कोशिश करेंगे..महीने में एक बार फेशियल करा लेगें....अब बंदर से लंगूर बनने का फायदा क्या होता है ये तो बाद की बात है। पर हां एक और अजीब सी शिफ्ट होती है जो न रात की कहलाती है न दिन की..और वो शिफ्ट होती है शाम चार बजे से रात एक बजे के करीब तक...इस हालात का आदमी न दिन का होता है न रात का..यानि लगभग धोबी का .....पर इससे में तरोताज दिखने के लिए मेरी एक टिप कि घर आते ही जितना जल्दी हो सके सो जाएं...औऱ उसके बाद दूसरा तरीका तो आपने बता ही दिया है यानि फेशियल जरुर कराएं...

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।