बुधवार, 30 मई 2012

एलोवेरा है प्राकृतिक मॉइश्चराइजर

कई तरह के पौधों के अंशों को आज कई चीजों में प्रयोग किया जाता है लेकिन इनमें से एलोवेरा को सबसे ज्यादा बहुउपयोगी माना जाता है। इसका प्रयोग 3,000 से ज्यादा वर्षों से किया जा रहा है। हालांकि इसे लिली फैमिली का सदस्य माना जाता है, लेकिन यह देखने में कैक्टस जैसा ज्यादा लगता है। यह कैक्टस के पौधे के समान मांसल और गूदेदार होता है और इसमें जूस जैसा गाढ़ा जेल पाया जाता है। आमतौर पर यह बगीचों और घरों में आसानी से मिल जाता है। सच तो यह है कि यह बहुत ही आसानी से गमलों में उग जाता है। इसका हिंदी नाम ग्वारपाठा है जबकि घकिंवर या घृतकुमारी इसका संस्कृत नाम है। प्राचीन काल से एलोवेरा को इसकी हीलिंग प्रॉपर्टी के कारण जाना जाता है। इसका प्रयोग कटे स्थान या घाव को भरने के लिए किया जाता था क्योंकि यह क्षतिग्रस्त टिशू के फॉरमेशन में सहायता करता है। यह शक्तिशाली प्राकृतिक मॉइश्चराइजर भी है। यह डेड स्किन सेल्स को मुलायम करता है और त्वचा को नर्म और चमकदार रखते हुए, उन्हें निकालने में भी मदद करता है। 

वास्तव में, यह त्वचा की मॉइश्चर ग्रहण करने की क्षमता को बढ़ाते हुए त्वचा के नॉर्मल फंक्शन में सहायता करता है। एलोवेरा में एंटी-ऑक्सिडेंट प्रॉपर्टीज पाई जाती है। यह सेल रिन्यूअल प्रोसेस को भी बढ़ाता है। कॉस्मेटिक्स प्रोडक्ट्स में स्टेब्लाइज्ड (स्थायीकृत) एलोवेरा जेल या जूस का प्रयोग किया जाता है। अगर आपने एलोवेरा के पौधे को घर में लगाया है, तो आप इसके जेल या जूस को डायरेक्ट स्किन पर अप्लाई कर सकती हैं। पौधे से लिया गया जेल पत्ते का गूदा होगा, जो पत्ते के अंदरूनी भाग में पाया जाता है। एलो का जूस पत्ती की बाहरी त्वचा के नीचे पाया जाता है। हालांकि जब आप घर पर ही इसे सीधे त्वचा पर लगाएंगी तो उससे पहले इसके पत्तों को अच्छी तरह धो लें और इसके गुणों का पूरा लाभ लें। एलोवेरा जेल या जूस को आप चेहरे पर अप्लाई कर सकती हैं, फिर 20 मिनट बाद इसे सादे पानी से धो दें। यह आपकी त्वचा को मुलायम बनाते हुए मॉइश्चराइज करेगा। सचाई तो यह है कि अगर आप इसे नियमित रूप से प्रयोग करें तो यह आपकी त्वचा को जवां बनाये रखने वाले गुणों को कायम कर सकता है। सर्दी और गर्मी, दोनों महीनों में एलोवेरा बेहतर होता है। सर्दियों में यह ड्राईनेस से बचाता और त्वचा के सॉफ्ट टेक्सचर को मेंटेन रखने में मदद करता है। 

गर्मियों में यह त्वचा को कोमल रखता है, खासकर सन एक्सपोजर के बाद। साथ ही, यह त्वचा को ऑयली बनाए बिना ही मॉइश्चराइज करता है। एलोवेरा को फेस मास्क में भी मिलाया जा सकता है। एक टेबलस्पून बेसन, एक टीस्पून संतरे के छिलके का पाउडर और एक चम्मच दही के साथ एक टेबलस्पून एलोवेरा जेल लें। सभी को अच्छी तरह मिला कर त्वचा पर लगाएं। फिर 30 मिनट बाद धो दें। एलोवेरा को आप हेयर पैक के रूप में भी प्रयोग कर सकती हैं। इसके जेल को बालों पर लगाएं और फिर 20 मिनट बाद सादे पानी से धो दें। यह ड्राई, रफ और डैमेज बालों के टेक्सचर को इम्प्रूव करके बालों को मुलायम और कांतिवान बनाता है। इसे आप हेयर पैक के साथ भी प्रयोग कर सकती हैं। क्लिंजिंग पैक के लिए बेसन, दही और एक टेबलस्पून एलोवेरा जेल लें। इन सभी को अच्छी तरह मिलाकर बालों पर लगाएं। फिर एक घंटे बाद बाल धो लें। बहुत ज्यादा ड्राई, रफ और कमजोर बालों के लिए एक अंडा, एक टेबलस्पून कास्टर ऑयल, नींबू का रस और एक टेबलस्पून एलोवेरा जेल या जूस मिलाएं। इस मिशण्रको बालों पर लगाकर प्लास्टिक शावर कैप पहन लें। आधे घंटे बाद बाल धो लें(शहनाज हुसैन,आधी दुनिया,राष्ट्रीय सहारा,नई दिल्ली से साभार)।

9 टिप्‍पणियां:

  1. उपयोगी बढ़िया जानकारी,,,,,

    उत्तर देंहटाएं
  2. बढ़िया उपयोगी पोस्ट....
    सादर आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  3. Thank you for some other informative web site. Where else could I get that kind of information written in such a perfect manner?



    For More Information Visit Here : Indian Current Affairs

    उत्तर देंहटाएं
  4. मैंने इसे घर में लगा रखा है, और इसके पत्ते को तोड़कर देह पर रगड़ लेता हूं।

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत ही बढ़िया जानकारी है...

    उत्तर देंहटाएं
  6. Nice post.
    iske fayde din me bhi kaam aate hain aur raat me bhi.
    See:
    http://hbfint.blogspot.in/2012/05/blog-post_6480.html

    उत्तर देंहटाएं
  7. बहुत ही अच्‍छी जानकारी ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।