सोमवार, 30 जनवरी 2012

व्यायाम और जिम से जुड़ी ग़लतफ़हमियां दूर करें

रफ्तार भरी जिंदगी में अपने आपको चुस्त-दुरुस्त रखना एक कठिन चुनौती है। जिम और एक्सरसाइज को लेकर लोगों में अमूमन कुछ गलतफहमियां रहती हैं। एक रिपोर्टः दुनिया में कुछ भी हासिल करने के लिए कोई जादू की छड़ी नहीं है। चाहे बात पैसे की हो या सेहत की, कुछ पाने के लिए आपको थोड़ी मेहनत तो करनी ही होती है। अच्छी सेहत पाने के लिए अगर आप जिम जाने की सोच रहे हैं तो जरा पहले जिम और वहां होने वाले वर्कआउट के बारे में अच्छी तरह जान-समझ लें। वेट ट्रेनिंग आपकी मांसपेशियों को बढ़ाने में मदद करती है। जबकि एरोबिक्स आपको वजन घटाने के लिए फायदेमंद है। 

वेट ट्रेनिंग मांसपेशियों में मौजूद फाइबर को बड़ा और मजबूत बनाती है। एरोबिक्स दिल की मांसपेशियों पर काम करती है, जिससे शरीर में ऑक्सीजन की मात्र बढ़ जाती है। इससे शरीर में मौजूद कैलोरी बर्न होने में मदद मिलती है। 

लगातार कसरत से बनती है मसल 
अगर आप एक एक्सरसाइज को 15 बार से ज्यादा भी दोहराते हैं तो भी इससे आपको ज्यादा फायदा नहीं मिलेगा। एक्सपर्ट का मानना है की 8 से 12 का सेट ही आपको सही फायदा पहुंचा पाएगा। शुरुआती सेट तो आपके शरीर की निगेटिव ऊर्जा को खत्म करके कैलोरी बर्न करने का काम करता है। अगर आप ज्यादा वेट के साथ एक्सरसाइज कर रहे हों तो 5 से 12 दोहराव ही आपको मजबूत मसल दे सकते हैं। 

वजन के साथ सही ट्रेनिंग है फायदेमंद 
अगर आप सिर्फ वजन के साथ ट्रेनिंग कर रहे हों, और वो भी बिना बारीकियों पर ध्यान दिए तो यह आपकी मसल तो बना देगा लेकिन उनमें लचक नहीं आ पायेगी। कई ऐसे लोग हैं जिन्होंने न केवल वेट ट्रेनिंग ली बल्कि साथ ही छोटी-छोटी बातों का ध्यान रख कर मजबूत के साथ फ्लेक्सिबल मसल भी बनाये हैं। मार्टिना (टेनिस), मडोना, मेल्विन एंथोनी (बॉडी बिल्डिंग) और एवंडर (बॉक्सिंग) ऐसे ही कुछ नामों में से हैं। 

वर्जिश छोड़ते ही मसल बन जाता है फैट 
हमारे मसल के सेल ठीक से काम करते रहते हैं जब तक हम वर्जिश करके उन पर जोर डालते रहें। लेकिन एक बार वर्जिश बंद करने के बाद मसल के सेल सिकुड़ने लगते हैं और फैट में तब्दील हो जाते हैं। 

वेट ट्रेन और महिलाएं 
पहली बात तो महिलाओं में टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का निर्माण नहीं होता और दूसरी बात कि महिलाओं में भारी वजन उठाने की शारीरिक क्षमता नहीं होती। इसीलिए यदि वे वेट ट्रेनिंग लेती हैं तो वे बेडौल लग सकती हैं। 

स्टीरॉयड नहीं देता मसल 
आम लोगों में यह गलतफहमी है की स्टीरॉयड मसल बनाता है। दरअसल सिर्फ और सिर्फ एक्सरसाइज से ही मसल बनाया जा सकता है। स्टीरॉयड सिर्फ तभी असर करेगा जब आपके शरीर को खाने और एक्सरसाइज की पर्याप्त मात्र मिलेगी। कभी-कभार स्टीरॉयड के इस्तेमाल से मसल बन जाते हैं, लेकिन वह सिर्फ पानी के कारण होता है, न की असल में मसल। 

पसीना इंडिकेटर नहीं 
कई लोग मानते हैं कि अगर पसीना नहीं आ रहा तो इसका मतलब वजन कम नहीं हो रहा। जबकि पसीना सिर्फ खुद को ठंडा रखने का शरीर का तरीका मात्र है। हो सकता है आपकी बॉडी बिना पसीना बहाए ही फैट बर्न कर रही हो। 

तोंद के लिए लोअर एब एक्सरसाइज 
सिक्स पैक एब में छह मसल नहीं होती हैं, यह एक ही मसल होती है। जो छाती के नीचे से नाभि तक पहुंचती है। बस तरीका होता है इस मसल को शेप देने का। इसीलिए अगर आप सिक्स पैक वाली मसल बनाना चाहते हैं तो पहले अपनी तोंद पर जमा फैट की परत को हटाना होगा। यह सिर्फ लोअर एब यानी पेट के आस पास की एक्सरसाइज से ही मुमकिन है। 

एक्सरसाइज से पहले स्ट्रेचिंग 
एक्सरसाइज से पहले हल्का-फुल्का वॉर्म अप आपको एक्सरसाइज के दौरान चोट से बचा सकता है। लेकिन स्ट्रेचिंग आपके लिए नुकसानदेह हो सकती है। स्ट्रेचिंग का सही समय या तो एक्सरसाइज के दौरान या उसके बाद है। एक्सरसाइज से पहले स्ट्रेचिंग कतई न करें। 

कसरत का सही समय 
वैसे तो एक्सरसाइज के लिए कोई विशेष समय नहीं है। एक्सरसाइज फिर भी सुबह ही करना बेस्ट माना जाता है। क्योंकि इस समय आपका दिमाग पूरी तरह फ्रेश और चिंतामुक्त होता है। दोपहर या शाम को कभी ऑफिस तो कभी दूसरे कामों के कारण एक्सरसाइज पर ब्रेक लग सकती है। लेकिन हां, अगर आप शाम का समय टीवी देखकर जंक खाते हुए बिता रहे हैं तो उसके बजाए जिम जाना बेहतर है(हिंदुस्तान,दिल्ली,13.1.12)।

14 टिप्‍पणियां:

  1. वज़न कम करने के लिए बेस्ट है --वॉगिंग यानि ब्रिस्क वॉकिंग .
    मसल्स बनाने के लिए संयम और साधना की ज़रुरत है , दवाओं की नहीं .

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत लोगों की भ्रांतियां दूर हुयी होंगी ..अच्छी जानकारी देती पोस्ट

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत अच्छी जानकारी है !
    आभार ....

    उत्तर देंहटाएं
  4. सही है आज आपकी इस पोस्ट ने बहुत से लोगों के मुगालते दूर कर दिये होंगे ...बढ़िया जानकारी पूर्ण आलेख ...आभार

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत अच्छी और सटीक बात बताई आपने ...आभार

    उत्तर देंहटाएं
  6. Bahut Acchi jankari Vistar poorvak Batane ke liye Dhanyavad.

    Sandeep Singh Allahabad ( @sanialld )

    उत्तर देंहटाएं
  7. 50 साल से ऊपर वालों को जिम में कौन कौन सी एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए ?

    उत्तर देंहटाएं
  8. 50 साल से ऊपर वालों को जिम में कौन कौन सी एक्सरसाइज नहीं करनी चाहिए ?

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।