रविवार, 15 जनवरी 2012

बालों के लिए कंडीशनर घर पर ही बनाएं

बाल धोने के बावजूद यदि उड़े-उड़े रहें और मनचाही शैली में न संवारे जा सकें तो इसका मतलब उन्हें खास देखभाल की जरूरत है, यानी हेयर कंडीशनिंग की। कंडीशनर न केवल बालों में चमक लाता है बल्कि उन्हें मुलायम भी बनाता है जिससे बाल मनचाही शैली में संवारे जा सकें और ज्यादा देर तक सेट रहें। हेयर कंडीशनर बालों के लिए एक सुरक्षा कवच का काम करता है। बालों को कंडीशन करने के लिए आप कंडीशनर बाजार से भी खरीद सकती हैं और चाहें तो घर पर भी बना सकती हैं। 

बाजार में तो कंडीशनर शैम्पू जैसे तरल रूप में मिलते हैं। बाल धोने के बाद बालों की लम्बाई के हिसाब से एक या दो ढक्कन हथेली पर लेकर इसे बालों में लगाया जाता है। फिर 10-15 मिनट यूं ही रहने देना चाहिए और फिर साफ पानी से धो लेना चाहिए। 

अगर आप बाजार का कंडीशनर न प्रयोग करना चाहें तो अंडे, बीयर, नीबू, सिरका का प्रयोग किया जा सकता है। प्राय: बहुत से परिवारों में अंडा और बीयर जैसी चीज वर्जित होती है। अत: इनका प्रयोग मुश्किल है, पर कोई बात नहीं नीबू या सिरका का प्रयोग भी उतना ही असरकारक है। बाल धोने के बाद करीब दो-तीन मग जितने पानी में आधा नीबू निचोड़ कर बालों को इस पानी से धो लें। इसके बाद साफ पानी डालने की जरूरत नहीं। अगर सिरका प्रयोग करें तो दो-तीन मग पानी में 5-6 बूंद डाल कर इस पानी से बाद आखिरी बाल धोएं। हां आपके पास वक्त हो तो आप कंडीशनर के तौर पर मेहंदी का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। इससे बाल मुलायम और चमकदार तो होंगे ही साथ ही बाल कुछ भूरापन ले लेंगे। मेहंदी कंडीशनर के प्रयोग के लिए सूखी मेहंदी पाउडर लीजिए। 

मेहंदी पाउडर की मात्रा बालों की लम्बाई के हिसाब से लीजिए। अब इसमें थोड़ी-सा दही मिलाकर और शेष पानी मिलाकर गाढ़ा पेस्ट तैयार कर लीजिए। इसे बालों में लगाने के बाद आधा-पौने घंटे इंतजार कीजिए और फिर धो डालिए। मेहंदी कंडीशनर प्रयोग करते समय एक बात जरूर ध्यान रखें कि मेहंदी पेस्ट को सिर की त्वचा पर न रगड़ें। बल्कि जिस तरह बाल डाई करते हैं उसी तरह सिर्फ बालों पर लगाइये। 

लीजिए, आपके बाल  बन गए मुलायम और चमकदार । इन्हें अगर कोई खास तरीके से सेट करना हो तो बेहतर है कि जब बाल हल्का सा गीलापन लिए हों तो तभी सेट कर लें। इससे बाल सुगमता से सेट होंगे और ज्यादा देर तर सेट रहेंगे(अनीता होलानी,दैनिक ट्रिब्यून,27.12.11)।

6 टिप्‍पणियां:

  1. बढ़िया प्रस्तुति...
    आपके इस सुन्दर प्रविष्टि की चर्चा कल दिनांक 16-01-2012 को सोमवारीय चर्चामंच पर भी होगी। सूचनार्थ

    उत्तर देंहटाएं
  2. बाहर के कंडीशनर तो बड़े महंगे होते हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  3. पहले बालों के लिए शिकाकाई व गर्म कपड़ों के लिए रीठा आम बात थी आज तो पता भी नहीं कि ये किन दुकानों में मिलते होंगे. मिलते भी होंगे !

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुंदर जानकारी देने के लिये आपका धन्यबाद राधारमण जी. ये नुस्खे भी जरूर आजमाएंगे.

    उत्तर देंहटाएं
  5. बढ़िया घरेलू नुस्खा, आजमाना चाहिये...

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।