शुक्रवार, 4 नवंबर 2011

कमर दर्द में ध्यान देने योग्य चीज़ें

-रोज़ सुबह लहसुन की २-३ कलियाँ लेने से कमरदर्द में राहत मिलती है। सरसों या नारियल के तेल में लहसुन की कलियाँ डालकर गर्म कर लें। लहसुन काली होने तक गर्म करें फिर ठंडा होने पर छान कर इस तेल से पीठ-कमर में मालिश करें।


-गरम पानी में नमक डालें। इसमें एक फर वाला तौलिया डालकर निचोड़ लें। पेट के बल पर लेट जाएँ और पीठ पर जहाँ दर्द हो रहा हो, यह तौलिया रख लें। भाप से राहत मिलेगी।


-कढ़ाई में २-३ चम्मच नमक डालकर इसे अच्छे से सेक लें। थोड़े मोटे सूती कपड़े में यह गरम नमक डालकर पोटली बाँध लें। मरीज़ की पीठ पर इससे सेक करें।


-कमरदर्द की समस्या से बचने के लिए हमेशा सही पॉस्चर का ध्यान रखें। हर समय ऊँची हील की सैंडल्स भी कमरदर्द का कारण बन सकती है, इसके बजाय आरामदायक जूते पहनें। नियमित रूप से व्यायाम करें। 


-यदि अधिक समय तक दर्द बना रहे तो मालिश और व्यायाम बिलकुल न करें। कभी-कभी गलत तकनीक के कारण परेशानी और बढ़ जाती है। थोड़े समय केवल आराम कर के देखें और चिकित्सक से सलाह लें। इलाज से पहले दर्द का कारण जानना बहुत ज़रूरी है(सेहत,नई दुनिया,अक्टूबर चतुर्थांक 2011)।

3 टिप्‍पणियां:

  1. केले एवं कमर दर्द की जांकारीयन बेहद उपयोगी हैं। कुछ विशेषज्ञों के अनुसार केले का छिलका पानी साफ करने का उत्तम उपादान है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. मैं तो थोरैको लम्बर स्लिप डिस्क का मरीज़ हूं। आपकी सलाह काम आएगी।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।