बुधवार, 19 अक्तूबर 2011

जीभ चटोरी तो देह भी मोटी

स्त्री हो अथवा पुरुष, आकर्षक व्यक्तित्व के लिए इकहरा बदन बहुत आवश्यक है। इकहरा बदन सौंदर्य को निखार देता है। आधुनिक परिवेश में सभी छरहरेपन को पसंद करते हैं। संभवत: यही वजह है कि बाजार में बिकने वाली मोटापा कम करने वाली दवाओं के आकर्षक विज्ञापनों ने हर किसी को अपनी ओर आकर्षित किया है। हर कोई आज स्लिम बने रहने की चाहत तो रखता है किंतु बिना व्यायाम अथवा मेहनत किए, सिर्फ मोटापा कम करने वाली गोलियों का सेवन करके। ऐसा करते वक्त ज्यादातर महिलाएं तो इन दवाओं के साइड इफैक्ट्स को भी नजरअंदाज कर देती हैं। प्राय: वे लोग भोजन की ज़रूरत से अधिक मात्रा लेते हैं, जो अकसर देर रात आयोजित होने वाली पार्टियों, विवाह समारोह अथवा क्लबों में जाते हैं और विभिन्न व्यंजनों का स्वाद चखने-चखने में ही बहुत ज्यादा भोजन कर लेते हैं और फिर सुबह देर तक सोते रहते हैं। इससे शरीर में वसा की अतिरिक्त मात्रा बढ़ जाती है और परिणामत: बदन थुलथुला बनता जाता है। 

आकर्षक देहयष्टि बनाए रखने के लिए कुछ उपाय स्वयं ही करने पड़ते हैं, जिससे शरीर सुंदर दिखाई दे सके। विवाह, पार्टियों के लिए जाने से पूर्व सेब खाकर या संतरे का जूस पीकर जाएं ताकि पार्टियों में जरूरत से ज्यादा भोजन न किया जा सके। सदैव संतुलित आहार ही लें। वसायुक्त भोजन शरीर में चर्बी बढ़ाता है, जिससे शरीर बेढंगा होने लगता है। इकहरा बदन बनाए रखने के लिए इन सुझावों पर अमल करें ताकि हमेशा सौंदर्य बरकरार रखा जा सके:- 
सदैव संतुलित आहार ही लें। 
भोजन में सलाद तथा हरी सब्जियों की मात्रा अधिक रखें। 
मक्खन, पनीर, क्रीम, मांस इत्यादि का उपयोग कम से कम करें। 
आलू के परांठे, समोसा, पकौड़ा, मिठाई इत्यादि खाने में संकोच करें क्योंकि इस सबसे वजन बढ़ता है। 
पानी में नीबू निचोड़कर तथा शहद मिलाकर पीयें। इससे वजन घटता है। 
भोजन में अपने बजट के हिसाब से फलों का उपयोग करें। ताजा भोजन करें। फ्रिज में रखे भोजन को उपयोग में लाने से परहेज करें। 
वसायुक्त भोजन कम से कम लें। 
दूध भी क्रीम निकला हुआ ही उपयोग में लाएं। 
मोटापा कम करने वाली दवाओं के चक्कर में न पड़ें। 
सुबह या शाम के समय नियमित रूप से तेज चाल से सैर करने की आदत डालें अथवा प्रतिदिन करीब आधे घंटे तक व्यायाम करें। 
समय पर भोजन करने की आदत डालें। 
हालांकि इकहरा बदन बनाए रखने की चाहत हर किसी को होती है लेकिन चटोरी चीभ वाले व्यक्तियों के लिए यह बहुत मुश्किल है। अपनी जीभ और मन पर नियंत्रण रखें तो मोटापा आपके करीब फटकेगा भी नहीं और आप बिना कोई उपाय किए आकर्षक देहयष्टिï के नजर आएंगे। (योगेश कुमार गोयल,दैनिक ट्रिब्यून,18.10.11) 

त्योहारों पर ऐसे बचें ओवरईंटिंग से 
कभी टीवी देखते हुए तो कभी चॉकलेट का डब्बा पास रखे होने की वजह से अक्सर हम ओवरइटिंग कर जाते हैं। जाहिर है, यह हमारी हेल्थ के लिए बेहद नुकसानदायक है। आइए जानते हैं कि कैसे बचें इससे: 

बात अगर खाने की करें, तो हममें से ज्यादातर लोग यही सोचते हैं कि हम इसलिए खाते हैं, क्योंकि हमें भूख लगती है या फिर खाने का टेस्ट पसंद आता है। लेकिन असल में ऐसा कुछ भी नहीं है। साइंटिस्ट्स का कहना है कि खाने-पीने के मामले में कंवीनिएंस और विजिबिलिटी जैसे फैक्टर्स बेहद इंपोर्टेंट होते हैं। ये ही हमें खाने के लिए प्रेरित करते हैं। अगर हम कुछ सिंपल ट्रिक्स फॉलो करें, तो ओवरइटिंग जैसी प्रॉब्लम को पूरी तरह कंट्रोल किया जा सकता है। 

 चॉकलेट दूर ही अच्छी 
अमेरिका की कॉर्नेल यूनिवर्सिटी के एक्सपर्ट्स ने एक रिसर्च में पता लगाया है कि अगर स्वीट्स या चॉकलेट्स का डिब्बा आसानी से आपकी पहुंच में रखा है, तो आप 125 कैलोरीज ज्यादा खाते हैं। वहीं अगर यह आपसे 6 फीट की दूरी पर रखा हो, तो कम ही लोग उसे उठाने जाने का कष्ट करते हैं। जबकि चॉकलेट का डब्बा बराबर में रखा होने पर लगातार उसे खाते ही रहते हैं। 

कैसे बचें - 
बेहतर होगा कि आप बिस्कुट्स और स्वीट्स जैसी चीजों को कंटेनर में रखकर किसी ड्रॉअर या कबर्ड में रखें। ऐसे में, इन्हें आसानी से बाहर निकाल पाना संभल नहीं होगा। इस तरह आप इन्हें ज्यादा खाने से बच जाएंगे। -अपने लालच को कंट्रोल करें। अपने ऊपर कंट्रोल किए बिना कतई बात आप ओवरईटिंग से नहीं बच सकते।  

 सही नहीं बड़े फूड पैक 
 रिसर्च में पता लगा है कि अगर खाने - पीने की चीजें बड़े फूड पैक्ट्स में से सर्व की जाएं , तो उनके 20 से 40 पर्सेंट तक ज्यादा खाने के चांस होते हैं। यही हाल बड़ी सर्विंग डिशेज का होता है। बेहतर होगा कि आप खाने - पीने की चीजों को हाफ साइज बाउल में सर्व करें। एक स्टडी यह भी पता लगा है कि एक हाफ साइज और एक फुल साइज बाउल में डिश सर्व करने पर दोनों के फूड कंजप्शन में 56 फीसदी तक का फर्क पड़ा। एक दूसरी स्टडी से पता लगा है कि सिनेमा में बड़े पैकेट से पॉपकॉर्न खाने वालों ने भी आमलोगों के मुकाबले दो - तिहाई ज्यादा खाना खाया। 

कैसे बचें - 
कोशिश करें कि मील को किचन में ही सर्व कर लें। टेबल पर पॉट में सर्व करेंगी , तो ज्यादा खाने की गुंजाइश है। 
 - बफे परोसने वाले रेस्तरां में जाना अवॉइड करें। जाहिर है , वहां पर आप ज्यादा खाए बिना नहीं रह सकते। - 

छोटी प्लेट और ग्लासेज 
अगर आप बड़ी प्लेट्स में खाना सर्व करते हैं , तो आपके मील में 150 कैलोरीज एक्सट्रा ऐड हो जाती हैं। ऐसे में , अगर पूरे साल की एक्सट्रा कैलोरीज काउंट की जाएं , तो ये काफी बढ़ जाती हैं। इसी तरह बड़े ग्लासेज , आइसक्रीम स्कूप्स और बाउल्स में अल्कोहल , डेजर्ट , जूस और कोला वगैरह ज्यादा कंज्यूम किए जाते हैं। 

कैसे बचें - 
लंच या डिनर में छोटे साइज की प्लेट्स का इस्तेमाल करें। इसके अलावा , दाल - सब्लियां भी छोटे बाउल्स में सर्व करें। - शुगर ड्रिंक्स के लिए लंबे स्कीनी ग्लासेज का इस्तेमाल करें। 

 खाए जाओ , खाए जाओ 
 अमेरिकन इकनॉमिक रिव्यू में हाल ही में एक रिसर्च पब्लिश हुई। इसमें बतया गया है कि अधिकतर समय हम दूसरे काम करते हुए बहुत ज्यादा कैलोरीज कंज्यूम कर लेते हैं। मसलन हम टीवी देखते वक्त 2600 से ज्यादा कैलोरीज कंज्यूम कर लेते हैं। धीरे - धीर ये आदत हमें मोटापे का शिकार बना देती है। 

कैसे बचें - 
हमेशा खाने को एक अलग एक्टिविटी के तौर पर ट्रीट करें। दूसरी एक्टिविटीज के साथ खाना अवॉइड करें। - लेकिन अगर आपको टीवी देखते हुए ही खाना खाना है , तो पहले से ही लिमिटेड चीजें लेकर बैठें , ताकि आप ज्यादा न खा लें। 

क्वालिटी काउंट्स 
जरूरी नहीं है कि आप सिर्फ डाइटिंग करके ही वेट लूज कर सकते हैं। तमाम ऐसी डाइट्स हैं , जिन्हें खाकर आप बिना डाइटिंग के वेट लूज कर सकती हैं। हाल ही में हुई एक स्टडी से पता चला है कि जिन लोगों ने अपना इटिंग पैटर्न चेंज किया है , वे आसानी से वेट लूज करने में सफल रहे। मसलन आप फ्रूटस , वेजिटेबल्स , नट्स और योगर्ट को अपनी डाइट में शामिल करके पैटर्न चेंज कर सकते हैं। इसके अलावा , जो लोग आलू और प्रोसेस्ड मीट्स वगैरह ज्यादा लेते हैं , उनके ज्यादा वेट गेन करने के चांस बन जाते हैं। 

कैसे रोकें - 
काजू और मूंगफली खाना अवॉइड करें। स्नैक्स में नट्स ले सकते हैं। - एक दिन में एक गिलास फू्रट जूस लें। पैकेज्ड जूस और साफ्ट ड्रिंक्स अवॉइड करें।

रेस्तरां में खाना 
जब आप लोग रेस्तरां में खाते हैं , तो भी ज्यादा खाया जाता है। दरअसल , स्वाद के लालच में जीभ बेकाबू हो जाती है। बेहतर होगा कि आप रेग्युलर या मीडियम मील ही ऑर्डर करें और लार्ज साइज अवॉइड करें। 

कैसे बचें - 
हमेशा फैमिली मील से बचें और एक - साथ ज्यादा मंगाने की बजाय दोबारा ऑर्डर करें(नवभारत टाइम्स,दिल्ली,16.10.11)।


(टिप्पणीःवंदना जी ने इस पोस्ट की चर्चा तेताला पर भी की है।)

8 टिप्‍पणियां:

  1. एक बेहतरीन पोस्ट, पर केवल पढ़ने में ही अच्छा लगता है, पतला होने के लिये ये उपाय करने जाओ तो बहुत भारी लगते हैं ।

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी रचनात्मक ,खूबसूरत और भावमयी
    प्रस्तुति आज के तेताला का आकर्षण बनी है
    तेताला पर अपनी पोस्ट देखियेगा और अपने विचारों से
    अवगत कराइयेगा ।

    http://tetalaa.blogspot.com/

    उत्तर देंहटाएं
  3. जीभ चटोरी हो तो कैसे किये जाएँ ये सब उपाय ... जागरूक करता अच्छा लेख

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी सलाह पर अमल करने का प्रयास जरुर करुँगी ..

    उत्तर देंहटाएं
  5. बातें तो सब सही हैं । लेकिन क्या करें कंट्रोल नहीं होता ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।