गुरुवार, 4 अगस्त 2011

ऑस्टियोपोरोसिसः रोकथाम एवं उपचार

ऑस्टियोपोरोसिस का अर्थ है कमज़ोर अथवा छिद्रित हड्डियाँ। हड्डियों की संरचना में कैल्शियम ही मुख्य तत्व होता है, जो इसमें सबसे बड़े हिस्से के रूप में मौजूद होता है एवं उन्हें मज़बूत बनाता है। उम्र बढ़ने के साथ-साथ शरीर में कैल्शियम की कमी होती जाती है, जिसके कारण हड्डियों में खोखलापन एवं कमज़ोरी आ जाती है। फलस्वरुप मामूली चोट लगने, गिरने अथवा दबाव की वजह से यह आसानी से टूट जाती हैं। यह बीमारी होने पर शुरुआत में कोई लक्षण दिखाई नहीं देते हैं, ज़्यादातर लोगों को पता ही नहीं होता कि उन्हें ऑस्टियोपोरोसिस है। इसका संदेह अक्सर तब होता है जब हड्डियाँ मामूली चोट से ही टूट जाती हैं। ऑस्टियोपोरोसिस से ग्रसित कुछ व्यक्ति झुकने लगते हैं, उनकी पीठ में कूबड़ निकल आता है। कई बार इस वजह से मरीज़ों की कमर में हल्का या तीव्र दर्द भी देखा जाता है।

जोखिम इन मामलों में अधिक होता है
महिलाओं में रजोनिवृत्ति के बाद एवं वृद्घावस्था में। शारीरिक श्रम व व्यायाम न करने वालों में। स्टेरॉइड या मिर्गीरोधी उपचार की वजह से। यकृत अथवा गुर्दे की समस्या से। आँत के विकारों से। अपर्याप्त मात्रा में कैल्शियम एवं विटामिन-डी का सेवन करने से। हाइपरथॉयराइड बीमारी से एवं तपेदिक के उपचार से।

रोकथाम एवं उपचार : नियमित रूप से व्यायाम करने व कैल्शियम एवं विटामिन-डी युक्त भोजन लेने से। ऑस्टियोपोरोसिस के लिए वर्तमान में निम्नलिखित दवाएँ उपलब्ध हैं -

कैल्सिटोनिन : नाक से स्प्रे के रूप में और इंजेक्शन के द्वारा भी।

टेरिपैराटाइड : यह दवा इंजेक्शन के ज़रिए दी जाती है।

बिसफॉसफोनेट : यह गोली के रूप में सप्ताह या माह में एक बार दिया जाता है व साल में एक बार इंजेक्शन के रूप में दिया जाता है।
(डॉ. अजय गुप्ता,सेहत,नई दुनिया,जुलाई पंचमांक 2011)

5 टिप्‍पणियां:

  1. ज्ञानवर्धक प्रस्तुति. आभार.
    सादर,
    डोरोथी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. केल्सियम बहुल पदार्थों का बचपन से सेवन ,छाछ ,दही ,केला आदि खुराक में शुरु से ही ज़रूरी है .बचपन में ही नींव पड़ने लगती है इसकी(इस ओस्टियो -पोरोसिस ,अस्थि भंगुरता की इसीलिए बच्चों को कल्केरिया फास सभी को तकरीबन दिया जाता है .खुराकी स्रोत ही केल्शियम के सर्वोत्तम हैं .

    उत्तर देंहटाएं
  3. .कृपया यहाँ भी पधारें -http://veerubhai1947.blogspot.com/और यहाँ भी -
    http://sb.samwaad.com/ शुक्रिया.

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत ही उपयोगी जानकारी देते हैं आप हमलोग इससे जरुर लाभ उठाएंगे .......आभार

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।