बुधवार, 20 अप्रैल 2011

सस्ते इलाज के लिए लोग भारत न जाएं:अमरीका

अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा का कहना है कि उन्हें यह कतई गवारा नहीं कि उनके देशवासी सस्ते इलाज के लिए भारत जाएं। अमेरिका में महंगी चिकित्सा सुविधा पर उनका कहना है कि वह अपने देश में जल्द ही सस्ते इलाज के विकल्प मुहैया कराएंगे।
उन्होंने वर्जीनिया के कॉलेज में एक समारोह में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा, 'मेरा जोर इस बात पर है कि आपको सस्ते इलाज के लिए भारत या मेक्सिको जैसे देश न जाना पड़े। मैं चाहूंगा कि आपको अपने देश में ही बेहतर और सस्ता इलाज मिल सके।' राष्ट्रपति के इस बयान की लोगों ने खूब सराहना की। उन्होंने यह जवाब अमेरिका में महंगी होती चिकित्सा को लेकर एक व्यक्ति के सवाल पर दिया था।
उन्होंने कहा, 'किसी और देश में इलाज कराने से बेहतर है कि हम अपने देश में संभावनाएं तलाशें। हमारी कोशिश इलाज के खर्च को कम करने की रहेगी। इससे बड़ा अंतर पैदा होता है।'
उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार लाने के लिए दवाओं की कीमतें घटाने पर जोर दिया। जिससे लोगों को यह अहसास न हो कि उन्हें ठगा जा रहा है और इससे बेहतर तो भारत, मेक्सिको और कनाडा हैं।
ओबामा ने आश्वासन दिया कि दवाओं की खोज अमेरिका में हो रही है लेकिन इलाज या दवा की कीमत यहां ऊंची है। उन्होंने कहा कि इस बारे में हमें काफी सोचने की जरूरत है। हमें व्यवस्था में कुछ बदलाव करने होंगे, जिससे सभी के लिए इलाज सस्ता हो सके(दैनिक जागरण संवाददाता,20.4.11 में वाशिंगटन की रिपोर्ट)।

7 टिप्‍पणियां:

  1. बंदूके हथियार सस्ते इलाज़ महंगे वाह अमरीका

    उत्तर देंहटाएं
  2. दर्शन जी ने सही कहा.....मारना आसान ....जीना मुश्किल.....

    उत्तर देंहटाएं
  3. चलिए ओबामा ने यह तो माना कि अमेरिका कि अपेक्षा भारत में इलाज़ करना सस्ता पड़ता है !

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुरेन्‍द्र जी की बात से सहमत हूं ... बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

    उत्तर देंहटाएं
  5. हूँ........... वैसे अमेरिका में भी वहां की मेडिकल फील्ड को भारतीयों ने संभाल रखा है..... ज्यातर डॉक्टर इन्डियन ओरिजिन के हैं......

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।