सोमवार, 4 अप्रैल 2011

हर 22 में से 1 महिला ब्रेस्ट कैंसर की शिकार

देश में हर 22 में से एक महिला ब्रेस्ट कैंसर की शिकार हो रही है।। जालंधर के होटल में पटेल अस्पताल एवं एसोसिएशन ऑफ रेडिएशन अंकोलॉजिस्ट ऑफ इंडिया (एआरओआई) द्वारा आयोजित संगोष्ठी में ब्रेस्ट कैंसर पर चर्चा के दौरान यह बात सामने आई है।

संगोष्ठी में कहा गया कि कि जागरुकता की कमी के कारण देश में ब्रेस्ट कैंसर का पता अधिकतर अंतिम स्टेज में ही चलता है। इससे इलाज की संभावनाएं केवल 20 प्रतिशत ही रह जाती हैं।

पहली स्टेज में इलाज संभव
राजीव गांधी कैंसर अस्पताल,नई दिल्ली के विशेषज्ञ डा. कपिल कुमार के अनुसार यदि पहली स्टेज में ही ब्रेस्ट कैंसर का पता चल जाए तो इलाज सौ प्रतिशत किया जा सकता है। मैक्स अस्पताल के डा. हरित चतुर्वेदी ने बताया कि रेडिएशन तकनीक से ब्रेस्ट कैंसर का इलाज किया जा सकता है।

रेडिएशन थैरेपी में इलाज से महिलाओं को फेफड़ों एवं चमड़ी में सिकुड़न व ब्रेस्ट के सख्त होने आदि जैसे साइड इफैक्ट्स नहीं होते हैं। डा. अनुभा पटेल अस्पताल, डा. एससी शर्मा पीजीआई चंडीगढ़, डा. रमण अरोड़ा, डा. जेएस सेखों ने कहा कि 40 साल की आयु से ऊपर की महिलाएं ब्रेस्ट कैंसर का अधिकतर शिकार होती हैं। 

क्या है कारण : डीएनए में कुछ बदलाव ब्रेस्ट की नार्मल कोशिकाओं को कैंसर का रूप दे सकता है। यह बदलाव जैनेटिक कारणों के चलते भी होते हैं।

क्या है लक्षण : ब्रेस्ट में गिल्टी होना, अग्र भाग में पानी या खून का गिरना।

क्या है उपाय : यदि महिलाएं अपने स्तर पर जांच करके संबंधित लक्षण देखकर चेकअप करवा ले तो यह पहली स्टेज में पकड़ में आ सकता है। जहां यह पूरी तरह क्यूरेबल है।

क्या है नवीनतम इलाज : अब पूरी ब्रेस्ट के स्थान पर कुछ हिस्से को निकाल दिया जाता है। रेडिएशन थैरेपी से बिना साइड इफैक्ट्स इलाज संभव है।

ब्रेस्ट कैंसर का ज्यादा शिकार ऐसी महिलाएं हो रही है जो आर्थिक रूप से संपन्न घरानों से हैं और मोटापे की भी शिकार हैं।
डा. हरप्रीत सिंह, सीनियर कंसल्टेंट एंड एचओडी रेडिएशन अंकोलॉजी, पटेल अस्पताल(दैनिक भास्कर,जालंधर,4.4.11)

3 टिप्‍पणियां:

  1. बेहतरीन जानकारी दी है आपने ... सच ही बस सजग होने की ज़रूरत है महिलाओं को ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. अच्छी जानकारी ...सचेत करती पोस्ट

    उत्तर देंहटाएं
  3. अच्छा आलेख, महिलाओं के लिये विशेषत:

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।