सोमवार, 21 फ़रवरी 2011

बच्चों में मधुमेह की वजह सॉफ्ट ड्रिंक

आपका बच्चा यदि सॉफ्ट ड्रिंक का शौकीन है तो उसे रोकना होगा। कोला या फिर किसी भी एनर्जी ड्रिंक को मधुमेह की प्रमुख वजह माना गया है। दरअसल इनमें शामिल काब्रोहाइड्रेट शरीर में जरूरत से अधिक ग्लूकोज की मात्रा पहुंचाता है,जिससे मेटाबॉलिक डिस्आर्डर सिंड्रोम सामने आ रहा है। दिल्ली डायबिटिक रिसर्च सेंटर के अध्ययन के अनुसार, दिन भर में दो से तीन दिन पर 150 एमएल कोल्ड ड्रिंक या एनर्जी ड्रिंक से टाइप-टू मधुमेह का खतरा 25 फीसदी बढ़ सकता है। दिन में नियमित दो बार साफ्ट ड्रिंक एक साल में 10 पाउंड वजन बढ़ा सकता है। राजधानी दिल्ली के 1500 स्कूली बच्चों पर किए गए अध्ययन में पाया गया कि 59 प्रतिशत बच्चों का वजन उनकी उम्र से अधिक है। मोटे बच्चों में 10 प्रतिशत बच्चे मधुमेह के शिकार है, जबकि 2 प्रतिशत बच्चों में मधुमेह का कारण जेनेटिक देखा गया है। डीडीआरएस के प्रमुख डॉ. अशोक कुमार झिंगन कहते हैं कि सॉफ्ट ड्रिंक में साधारण पेय की अपेक्षा 12 प्रतिशत अधिक सूक्रोज और काब्रोहाइड्रेट होता है। अप्रैल से जून माह में बच्चों में कोल्ड ड्रिंक की खपत 40 फीसदी बढ़ जाती है। अधिक कैलोरी और ग्लूकोल की अपेक्षा शारीरिक श्रम कम होता है, जिसका असर मेटाबॉलिक डिस्आर्डर सिंड्रोम है। इसमें केवल मधुमेह ही नहीं, इससे जुड़ी अन्य बीमारियां जैसे सीएचडी(कोरोनरीहार्ट डिसीसी), किडनी व लिवर भी शामिल हैं(निशि भाट,हिंदुस्तान,दिल्ली,21.2.11)।

4 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छी जानकारी के लिए आभार
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  2. .

    राधारमण जी लेख में कुछ त्रुटियों के चलते वह दो-एक जगह समझ में नहीं आ रहा है.
    यहाँ आपके लेख के समर्थन में अपनी एक कविता "मिस्टर पेटूराम" डाल रहा हूँ.


    एक थे मिस्टर पेटूराम
    उनका पेट भरा गोदाम
    दो थे उनके मोटे हाथ
    घूम नहीं पाते एक साथ
    तीन बार ना खाते थे
    हर दम चरते रहते थे
    चार बार खाते थे चाट
    बर्गर, भल्ले, टिक्की हाट
    पाँच बार पीते थे चाय
    दरवाजे पर रोती गाय
    छह बार तम्बाकू पान
    इधर-उधर हर तरफ निशान
    सात बार करते स्मोक
    खाँसा करते खुल-खुल खौंक
    आठ बार पीते कोल्ड-ड्रिंक
    हेल्थ से छूटा पूरा लिंक
    नौ पैकेट खाते थे चिप्स
    सूखे-सूखे रहते लिप्स
    दस घंटे करते आराम
    गिर जाते थे जहाँ धडाम.

    .

    उत्तर देंहटाएं
  3. ...
    छोटे बच्चों को दस तक गिनती सिखाने के लिए लिखी गयी बाल कविता, यदि पाठक पसंद करें तो इस क्रम को आगे भी बढाने का प्रोत्साहन मिलेगा. हाँ इसे वैज्ञानिक पक्ष से ना पढ़े, जैसे की चिप्स खाने से लिप्स का सूखना आदि, यह केवल बच्चों की जंक फ़ूड के प्रति रुझान कम करने के लिए बातें डाली गयीं हैं.

    .

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।