रविवार, 13 फ़रवरी 2011

हाईट बढ़ानी हो,तो करें ताड़ासन

यदि कोई व्यक्ति अपनी हाइट से संतुष्ट नहीं है तो उसके ताड़ासन सबसे अच्छा उपाय है। इस आसन से निश्चित ही हाइट बढ़ती है। यह आसन कम उम्र के लोगों के लिए काफी फायदेमंद है।


ताड़ासन की विधि: 
समतल स्थान पर कंबल आदि बिछाकर सीधे खड़े हो जाएं और प्रयास करें कि आपके पैर मिले रहें। साथ ही हथेलियों को अपने बगल में रखें। पूरे शरीर को स्थिर रखें और ये ध्यान रहे कि पूरे शरीर का वजन दोनों पैरों पर बराबर रूप से आए। दोनो हथेलियों की अंगुलियों को मिलाकर सिर के ऊपर रखें। हथेलियों का रुख ऊपर की ओर होना चाहिए। सांस भरते हुए अपने हाथों को ऊपर की ओर खींचिए, आपके कंधों और छाती में भी खिंचाव आएगा। साथ ही साथ पैरों की एड़ी को भी ऊपर उठाएं तथा पैरों की अंगुलियों पर शरीर का संतुलन बनाए रखिए। इस स्थिति में कुछ देर रहें। कुछ पल रुकने के बाद सांस छोड़ते हुए हाथों को वापस सिर के ऊपर ले आएं। इस आसन को एक बार में कम से कम 5-10 बार कर सकते हैं।

ताड़ासन के लाभ:
पैरों की अंगुलियों के साथ-साथ टखने भी मजबूत बनते हैं। - हम अपनी छाती और पीठ की मांसपेशियों में कम-कम खिंचाव ला पाते हैं लेकिन ताड़ासन करने से छाती, कंधे और पीठ की मांसपेशियों में भी खिंचाव आता है और वे एक्टिव हो जाती हैं। - ये आसन रीढ़ की हड्डी में भी खिंचाव लाता है. फलस्वरूप शरीर की लंबाई बढऩे की संभावना बढ़ जाती है तथा स्लिप डिस्क की संभावना नहीं रहती। - कंधों के जोड़ मजबूत बनते हैं और गहरी सांस लेने-छोडऩे की प्रक्रिया में सुधार होता है(दैनिक भास्कर,उज्जैन,9.2.11)।

4 टिप्‍पणियां:

  1. लम्बाई के काम भी आता है...ताड़ आसन....ये मालूम नहीं था....अच्छा लगा जान के....

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।