मंगलवार, 21 दिसंबर 2010

योग की सावधानियाँ

योग हर परिस्थिति में हमारे शरीर को स्वास्थ्य लाभ प्रदान करता है लेकिन योग करने से पहले कुछ ध्यान देने योग्य बातें हैं। इन बातों को अपनाने से योग का अधिक फायदा प्राप्त होता है। कुछ आवश्यक सावधानियों पर ध्यान देना आवश्यक है-
- योग शौच क्रिया एवं स्नान से निवृत्त होने के बाद ही किया जाना चाहिए।
- योग के एक घंटे बाद स्नान करें।
- योग समतल भूमि पर आसन बिछाकर करना चाहिए।
- ढीले वस्त्र पहनना चाहिए।
- योग खुले एवं हवादार कमरे में करना चाहिए ताकि आप सांस के साथ आप वायु ले सकें।
- योग घर के बाहर भी किया जा सकता है लेकिन वातावरण शुद्ध तथा मौसम अच्छा होना चाहिए।
- अनावश्यक जोर नहीं लगाना चाहिए।
- मासिक धर्म, गर्भावस्था, बुखार, गंभीर रोग आदि के दौरान आसन न करें या फिर किसी योग प्रशिक्षक से परामर्श अवश्य लें।
- प्रतिदिन संतुलित आहार लें और खाने का समय निर्धारित रखें।
- वज्रासन को छोड़कर सभी आसन खाली पेट करें।
- आसन के प्रारंभ और अंत सन दोनों ओर से करें एवं उसका पूरक अभ्यास करें।
- योग प्रारम्भ करने के पूर्व अंग-संचालन करना आवश्यक है। इससे अंगों की जकडऩ समाप्त होती है तथा आसनों के लिए शरीर तैयार होता है। अंग-संचालन कैसे किया जाए इसके लिए अंग संचालन देखें।
- योग किसी योग्य योग प्रशिक्षक की देख-रेख में करें तो ज्यादा अच्छा होगा(दैनिक भास्कर,उज्जैन,21.12.2010)।

5 टिप्‍पणियां:

  1. behtreen jaankari ke liye shukriya..

    mere blog par bhi kabhi aaiye waqt nikal kar..
    Lyrics Mantra

    उत्तर देंहटाएं
  2. योग की सावधानियों के बारे में बढ़िया जानकारी प्रदान करने के लिए आभार ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. सही चेताया है । सावधानियां ज़रूरी हैं ।

    उत्तर देंहटाएं
  4. मै भी योगा करती हूँ पर'कुछ बाते मुझे आज ही पता चली जानकारी के लिए धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  5. हमारे यहां तो "जोगा" करते हैं ही लोग :)

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।