मंगलवार, 24 अगस्त 2010

दिल्लीःआइस क्यूब के रूप में बिक रहा है धीमा जहर

अगर आप अपने घर में इस्तेमाल के लिए बाजार से आइस क्यूब खरीद रहे हैं तो सावधान। बाजार में बिकने वाली आइस क्यूब आपको किडनी व कैंसर जैसी घातक बीमारी का शिकार बना सकती है। यह खुलासा खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने अपनी एक विशेष रिपोर्ट में किया है। दरअसल इन दिनों राजधानी में बहुत सी जगहों पर स्वच्छ जल के बजाए हानिकारक तत्वों से युक्त बोरिंग के पानी से आइस क्यूब तैयार की जा रही है, जोकि स्वास्थ्य के लिए बहुत हानिकारक है। विभाग की इस रिपोर्ट को गंभीरता से लेते हुए पूर्वी जिला प्रशासन ने पटपड़गंज इलाके में चल रही एक आइस क्यूब की फैक्टरी को सील कर दिया है। वहीं, कई अन्य जगहों पर बर्फ के सैंपल लेकर उन्हें जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा है। जिला खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने जुलाई के महीने में बाजार में बिकने वाली आइस क्यूब के कुछ सैंपल लेकर उन्हें जांच के लिए भेजा था। जांच रिपोर्ट में पाया गया है कि मार्केट में बिकने वाली आइस क्यूब स्वच्छ जल से नहीं, बल्कि बोरिंग करके जमीन से निकाले हुए पानी से तैयार की गई है। यह पानी पीने लायक नहीं होता। इस तरह के पानी में कुछ ऐसे हानिकारक तत्व मिले होते हैं, जिनके सेवन से पेट संबंधी, किडनी व कैंसर जैसी बीमारियां मनुष्य के शरीर में होने लगती हैं। इस रिपोर्ट के आने के बाद पूर्वी जिला उपायुक्त एसएस घोंक्रोकता ने एसडीएम गांधी नगर डीपी सिंह, एसडीएम हुकम सिंह और एसडीएम उषा चतुर्वेदी को क्षेत्र में बिकने वाली आइस क्यूब के सैंपल भरने और बोरिंग के पानी से आइस क्यूब तैयार करने वाले लोगों की फैक्टरी सील करने के निर्देश जारी किए हैं। इस संबंध में एसडीएम उषा चतुर्वेदी की टीम ने पटपड़गंज इलाके में चल रही एक आइस क्यूब फैक्टरी पर छापा मारा और कर्मचारियों को बोरिंग के पानी से आइस क्यूब तैयार करते पकड़ा। एसडीएम ने तुरंत कार्रवाई करते हुए उक्त फैक्टरी को सील कर दिया है(पवन कुमार,दैनिक जागरण,पूर्वी दिल्ली,24.8.2010)।

3 टिप्‍पणियां:

  1. इस तरह के अभियान को ईमानदारी से सिर्फ आइसक्यूब ही नहीं बल्कि और भी खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता को बनाये रखने के हमेशा चलाने की जरूरत है काश खाद्य व आपूर्ति विभाग थोडा गंभीर और इमानदार होकर ऐसे अभियान को जारी रखता ...

    उत्तर देंहटाएं
  2. कहां कहां बचे हम .. रक्षाबंधन की बधाई और शुभकामनाएं !!

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।