शुक्रवार, 26 मार्च 2010

मोदी ओमेगा के स्प्रे से खर्र..खर्र होगा फुर्र

खर्राटे का मतलब है सोते समय मुँह के रास्ते से साँस लेने पर निकलनेवाली खर खऱ ध्वनि। विशेष-प्रायः गले या नाक में भरी हुई बलगम से हवा टकराने पर ऐसी आवाज़ निकलती है। खर्राटा लेने वाला खुद तो चैन की नींद सो रहा होता है मगर नींद खराब होती है दूसरों की। दरअसल,खर्राटा अच्छी नींद की नहीं बल्कि रोग की ही निशानी है। पुरुषों में खर्राटे से हाई ब्लडप्रेशर समेत अनेक रोग पैदा होते हैं। महिलाएं अगर हल्का खर्राटा भी लेती हैं तो उनमें हाईपरटेंशन की संभावना बहुत बढ जाती है। इसी समस्या से निजात दिलाने के लिए निजी क्षेत्र की मोदी ओमेगा फार्मा ने साइलेंस नामक स्प्रे भारतीय बाजार में लांच किया है । ५० मिली ग्राम स्प्रे की कीमत है ४२५ रुपए और यह ३० दिन के लिए पर्याप्त होगा। भारतीय बाजार में यह अपनी तरह का पहला स्प्रे है । इस दवा को इस प्रकार तैयार किया गया है ताकि यह तालु के सौम्य हिस्से में होने वाले कंपन को कम कर सके। इसका इस्तेमाल सोने से ठीक पहले गर्दन के पिछले हिस्से पर एक सेकेंड के लिए करना होता है और फिर उसे मुंह के जरिए श्वास की तरह अंदर लेना होता है। यही प्रक्रिया एक बार और दुहरानी होती है।
यह स्प्रे फॉस्फेटिडाईकोलिन(पादप अर्क), ग्लिसरीन, कैराजीनेंस, सूखे गुलाब के अर्क, सुक्रालोज, सोडियम मिथाइल पाराहाइड्रोक्सीबेंजोएट, सोडियम प्रोपीलपैराहाइड्रोक्सीबेंजोएट, सिट्रिक एसिड, मिंट फ्लेवर, पानी और टेट्राफ्लूरोथेन जैसी गैस से बना है और अगर इनमें से किसी के प्रति आपको एलर्जी हो तो यह स्प्रे आपके लिए नहीं है। यह स्प्रे उऩ लोगों के लिए भी नहीं है जिन्हें बादाम या सोया से एलर्जी हो। निर्धारित से अधिक मात्रा लेने की भी मनाही है। और हां,यह सिर्फ वयस्कों के लिए है। सलाह दी गई है कि अनिद्रा(एप्नोइया) के रोगी इसका सेवन न करें। दमा रोगियों के लिए भी यह निषिद्ध है। खर्राटा लेने वाली महिलाएं गर्भावस्था के दौरान इसके सेवन से बचें।

2 टिप्‍पणियां:

  1. आभार इस जानकारी का..देखते हैं इस्तेमाल करके..जाने क्या साईड ईफेक्ट वगैरह हों..डॉक्टर से पूछना पड़ेगा.

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।