बुधवार, 3 जुलाई 2013

पसीना बहाना भी एक हुनर है

अपने शरीर को वांछित आकार देने की ख्वाहिश में लोग तमाम जतन कर रहे हैं। जिमनेजियम का चलन भी हाल के सालों में काफी बढ़ा है। हालांकि नियमित व्यायाम के बाद भी अपेक्षित परिमाण न मिलने की शिकायत आम है। कई बार कुछ परेशानियां भी हो जाती हैं इसलिए व्यायाम करते हुए कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। 

सावधानी से बहाएं पसीना 
हाल में एक युवा अभिनेता अबीर गोस्वामी, जो प्यार का दर्द एवं क्राइम पैट्रोल जैसे लोकप्रिय सीरियल्स में काम करते थे, की व्यायाम करते हुए मौत हो गई। २०१२ में किसी स्वास्थ्यगत समस्या के कारण वे सर्जरी से भी गुजरे थे। चिकित्सकीय परामर्श के बिना कठोर शारीरिक श्रम उनकी मृत्यु का कारण बना। इस तरह के कई मामले हैं, जहां व्यायाम के दौरान निर्देशों का पालन न करना भारी पड़ा है। जिम में कसरत करते हुए चुनिंदा बातों पर अमल जरूरी है, साथ ही अगर आपको कोई स्वास्थ्यगत समस्या है तो चिकित्सक का परामर्श लेने के बाद ही व्यायाम करें। हेल्थ और न्यूट्रिशन के जानकार और लेखक जेम्स ए. पीटरसन का कहना है कि लोग हेल्दी बॉडी वेट मेंटेन करने के लिए जिम जाते हैं और समझते हैं कि मशीन के सामने खड़े होते ही वे सब कुछ हासिल कर लेंगे। 

पसीना बहाने से ही वजन कम नहीं होता। पसीना बहाने का मतलब है कि आपने पानी के वजन को कम किया है, यानी कोई लिक्विड लेने के साथ ही आप उतना ही वजन दोबारा हासिल कर लेते हैं। प्रायः लोगों को, जो लोग वजन घटाना चाहते हैं, पता ही नहीं होता कि व्यायाम की सही प्रणाली क्या है या मशीन का सही इस्तेमाल कैसे हो। हरेक की जरूरत के अनुसार एक अलग एक्सरसाइज प्लान भी होता है, जिसकी जानकारी जरूरी है। 

भेंट-मुलाकात नहीं, करें व्यायाम 
कई बार लोग जिम को मिलने-जुलने का अड्डा बना लेते हैं। ऐसा भी होता है कि दो मित्र एक ही वक्त पर जिम जाते हैं और बातें करते हुए वक्त बर्बाद करते हैं जो वस्तुतः व्यायाम के लिए तय था। बातों के दौरान वे कम एक्सरसाइज कर पाते हैं। वजन को लेकर गंभीर हों तो वर्क आउट पर फोकस करना जरूरी है। 

प्रोग्राम बदलें 
जिम में लगातार एक ही तरह की एक्सरसाइज से अपेक्षित परिणाम नहीं मिल, सकते। हो सकता है कि इससे शुरूआत में वज़न कम हो लेकिन अंततः बॉडी शेप में नहीं आएगी। उदाहरण के लिए,यदि आप एरोबिक एक्सरसाइज कर रहे हैं तो यह आपके मसल मास को मेंटेन करेगी और कैलोरी जलेगी। यदिआप स्ट्रेंथ ट्रेनिंग कर रहे हैं तो यह भी आपके मसल मास को तो मेंटेन करेगी लेकिन वेट कम नहीं होगा। इसलिए,यह ज़रूरी है कि आप मिक्स एक्सरसाइज प्रोग्राम का अनुसरण करें। 

स्पॉट रिडक्शन ट्रेनिंग गलत 
विशेषज्ञ कहते हैं कि खास स्पॉट जैसे पेट या भुजाएं बनाने की ही एक्सरसाइज से ओवरऑल रिजल्ट नहीं पाए जा सकते। यह बात ध्यान रखी जानी चाहिए कि शरीर जहां से वहां से,किसी भी हिस्से से फैट प्राप्त करता है,इसलिए आप कैलोरी के बहुत ही संतुलित ट्रेनिंग प्रोग्राम से जलाए जाने पर फोकस करें।

व्यायाम का सही तरीक़ा 
जिम में व्यायाम करते हुए इस बात का ख्याल रखा जाना चाहिए कि आप किसी मशीन का कैसा इस्तेमाल कर रहे हैं या किसी एक्सरसाइज को कितने सही ढंग से कर रहे हैं। ग़लत तकनीक से एक्सरसाइज करने के कारण चोट,मोट और अन्य तक़लीफें हो सकती हैं। बेहतर होगा कि किसी प्रोफेशनल ट्रेनर के साथ व्यायाम की शुरूआत करें। किसी एक्सरसाइज प्रोग्राम का अनुसरण करने की जल्दबाज़ी न करें,अन्यथा थकान हो सकती है। 

विशेषज्ञ की राय 
जिम शुरू करने से पहले विशेषज्ञ से कंसल्ट करना जरूरी है ताकि मसल कंडीशन के अनुसार व्यायाम किया जा सके। खासकर ३५ पार कार्डियक कंडीशन की जांच जरूरी है ताकि शारीरिक मेहनत उसी के ध्यान में रखते हुए किया जा सके। व्यायाम के मकसद के अनुसार भी एक्सपर्ट तय करते हैं कि किस तरह के व्यायाम किए जाने चाहिए ताकि अधिकतम लाभ हो, जैसे वजन बढ़ाना, वजन कम करना या टोन करने के लिए। -डॉ वरुण व्यास, वरिष्ठ फिजियोथैरेपिस्ट, इंदौरसेहत में प्रकाशित समस्त आलेख उच्च शिक्षित, योग्य एवं अनुभवी चिकित्सकों द्वारा लिखे जाते हैं, परंतु पाठक इनके आधार पर स्वयं अपनी चिकित्सा प्रारंभ न करें। इस संबंध में पत्रिका स्वयं को सारे विधिक दायित्वों से मुक्त करती है(इंदौर के डॉ. वरूण व्यास का यह आलेख नई दुनिया के सेहत परिशिष्ट,जून द्वितीयांक में प्रकाशित है)।

22 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी यह रचना कल गुरुवार (04-07-2013) को ब्लॉग प्रसारण पर लिंक की गई है कृपया पधारें.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सीना में ले हौसला, करो प्रतिज्ञा मित्र |
    प्राप्त करो एक्सपर्ट की, कुशल सलाह सचित्र |
    कुशल सलाह सचित्र , पोज हों सही संतुलित |
    खान-पान व्यवहार, बहुत कुछ इधर सम्मलित |
    नहीं मारिये गप्प, स्वस्थ्य गर रहना जीना |
    कसरत पर दो ध्यान, बहा मत मात्र पसीना ||

    उत्तर देंहटाएं
  3. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति का लिंक लिंक-लिक्खाड़ पर है ।। त्वरित टिप्पणियों का ब्लॉग ॥

    उत्तर देंहटाएं
  4. संग्रहणीय आलेख


    जरूर देखिए
    उत्तराखंड त्रासदी पर विशेष मेरे ब्लाग "TV स्टेशन" पर
    जलसमाधि दे दो ऐसे मुख्यमंत्री को
    http://tvstationlive.blogspot.in/2013/07/blog-post_1.html

    उत्तर देंहटाएं
  5. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत उम्दा उपयोगी जानकारी देती प्रस्तुति,,,

    बहुत दिनों बाद आपकी पोस्ट पढ़कर अच्छा लगा,,,

    RECENT POST: जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें.

    उत्तर देंहटाएं
  7. आपकी इस प्रस्तुति का लिंक 04/07/2013 के चर्चा मंच पर है
    कृपया पधारें
    धन्यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  8. उम्दा जानकारी दी है |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  9. अच्छी जानकारी दी है आपने ... स्वास्थ ठीक रहना जरूरी है हर हाल में ...

    उत्तर देंहटाएं
  10. बहुत ही अच्छी जानकारी दी है...
    आभार..
    :-)

    उत्तर देंहटाएं
  11. अच्छी जानकारी, सुन्दर,आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  12. ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन क्रांतिकारी विचारक और संगठनकर्ता थे भगवती भाई - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  13. मेरी तो ये समझ में नहीं आता कि शरीर थकाने के लिये भी बनावटी उपाय! इससे अच्छा तो शरीर साधनेवाले ऐसेकाम करें दोहरा लाभ हो .

    उत्तर देंहटाएं
  14. आपकी उत्कृष्ट प्रस्तुति शुक्रवारीय चर्चा मंच पर ।।

    उत्तर देंहटाएं
  15. बहुत ही उचित उपयोगी परामर्श.आज देखा देखी लोगों में वजन कम करने या पुष्ट शरीर की इच्छा ने इन चीजो का अंधाधुन्द अनुसरण करना शुरू कर दिया है,जब कि इनके अंजाम से पूर्ण परिचित नहीं है.सब से अच्छा तो पैदल घूमना,है जो परिणाम के मामले में सदा अविवादित रहा है.

    उत्तर देंहटाएं
  16. एकदमस सही बात है...अपन का पसीना तो बहुत बहता है अब शायद गर्मी की वजह से या जाने क्यों.उतना ही पानी भी पी जाते हैं अपन तो...हां व्यायाम तो करना भूल चुके हैं...बस थोड़ा बहुत योगा याद आने पर कर लेते हैं...और कभी-कभी दो तीन किलोमीटर शाम के वक्त घुम लेते हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  17. उचित निर्देशों के साथ अच्छी पोस्ट है
    आभार ...

    उत्तर देंहटाएं
  18. बहुत सही पोस्ट और सही सुझाव ।

    उत्तर देंहटाएं
  19. लाभकारी जानकारी के लिए आभार

    उत्तर देंहटाएं
  20. आपके ब्लॉग को ब्लॉग संकलक ब्लॉग - चिठ्ठा में शामिल किया गया है। सादर …. आभार।।

    नई चिठ्ठी : "ब्लॉग-चिठ्ठा" की नई कोशिश : "हिंदी चिठ्ठाकार" और "तकनिकी कोना"।

    कृपया "ब्लॉग - चिठ्ठा" के फेसबुक पेज को भी लाइक करें :- ब्लॉग - चिठ्ठा

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।