मंगलवार, 8 मई 2012

ऑर्गेनिक फूड से जुड़ी कुछ ज़रूरी जानकारियां

ऑर्गेनिक फूड्स बेशक कीमती हों, पर स्वास्थ्य के लिहाज से ये बेहतर हैं। इसलिए लोग इसे तेजी से अपना भी रहे हैं। बढ़ती लोकप्रियता की वजह से इसका बाजार बढ़ रहा है। ऑर्गेनिक फूड क्या हैं और इसके फायदे क्या-क्या हैं, बता रही हैं सुषमा कुमारीः 

बोलचाल की भाषा में कहें तो ऑर्गेनिक फूड्स वे फूड्स हैं, जिन्हें किसी केमिकल का इस्तेमाल किए बगैर तैयार और पैक किया जाता है। स्वास्थ्य के लिहाज से ये अन्य फूड्स के मुकाबले बेहतर माने जाने हैं। इस कारण ऑर्गेनिक फूड इंडस्ट्री तेजी से बढ़ रही है। ऑर्गेनिक फूड में न केवल फल, सब्जियां और अनाज आते हैं, बल्कि यह मांसाहारियों के लिए भी उपलब्ध हैं। 

ऐसे फूड्स हमें दिल से जुड़ी बीमारियों और कैंसर से बचाते हैं क्योंकि वे फेनॉलिक अवयव लिए होते हैं। यह उच्च गुणवत्ता के होने का यकीन दिलाता है, लेकिन अन्य पारंपरिक फूड्स के साथ ऐसा नहीं है। प्राकृतिक व ताजा होने के कारण ऑर्गेनिक फूड टेस्टी भी होता है। बाजार में खरीदने पर सामान्य फूड्स के मुकाबले यह 20 प्रतिशत तक महंगा पड़ता है। इस कारण बहुत से लोग अपने घर के बागीचे में ही ऑर्गेनिक फूड उगाना पसंद करते हैं। 

पौष्टिकता से भरपूर 
ऑर्गेनिक फूड को प्रामाणिक फूड भी कहा जाता है। यानी उत्पादन मानकों को ध्यान में रखकर इन्हें तैयार किया जाता है। इन्हें ऑर्गेनिक फार्म में उपजाया जाता है। उत्पादन के दौरान मान्यता प्राप्त विशेषज्ञ इस पर नजर रखता है। सामान्य फूड के उलट ऑर्गेनिक फूड उत्पाद सामान्यतया पेस्टिसाइड्स और केमिकल फर्टिलाइजर्स के बिना ही उपजाया जाता है। सामान्य फूड्स और इनमें अंतर कर पाना मुश्किल होता है, क्योंकि रंग, आकार और प्रकार में वे एक जैसे दिखते हैं। 

पहले केवल छोटे परिवार ही अपने बगीचे में ऑर्गेनिक फूड्स उपजाते थे। इससे बड़े स्तर पर उनकी उपलब्धता नहीं हो पाती थी। ऑर्गेनिक फूड्स केवल छोटे स्टोर्स और किसानों के बाजारों में ही मिल पाते थे। लेकिन आज ये दिल्ली में जगह-जगह उपलब्ध हैं। इसकी गुणवत्ता लोगों को खूब आकर्षित भी कर रही है। 

इसके फायदे 
ऑर्गेनिक तौर पर उपजाए गए ये फूड्स प्राकृतिक होते हैं, जिन्हें उपजाने के लिए किसी भी तरह के केमिकल का इस्तेमाल नहीं किया जाता है। 

-ये फूड्स पौष्टिकता और स्वाद से भरपूर होते हैं। हालांकि ये उतने कलरफुल और प्रेजेंटेबल नजर नहीं आते जैसे कि दुकानों में सजाकर रखे जाते हैं। 

-ऑर्गेनिक फूड्स पर्यावरण को भी नुकसान नहीं पहुंचाते। ये उपजाऊ मिट्टी की ऊपरी सतह को नुकसान नहीं पहुंचाते। नतीजतन प्रकृति के और भी करीब कहे जा सकते हैं। 

-शोध बताते हैं कि पारंपरिक फूड के मुकाबले ऑर्गेनिक फूड 10 से 50 प्रतिशत तक अधिक पौष्टिक होते हैं। 

-ऑर्गेनिक फूड का अधिक से अधिक इस्तेमाल करके आप स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के खतरों को कम कर सकते हैं। 

-प्रमाणन निकाय के अधिकारी नियमित रूप से उन फार्म या प्लांट की जांच के लिए दौरे पर आते रहते हैं, जहां ऑर्गेनिक फूड स्टफ्स उपजाए जाते हैं। वे जांचते रहते हैं कि ये फूड तय गुणवत्ता को ध्यान में रखकर उपजाए जा रहे हैं या नहीं। यही वजह और गुण हैं कि ये पारंपरिक फूड को कड़ी टक्कर दे रहे हैं। 

-ऑर्गेनिक फूड्स पर अक्सर लेबल्स लगे होते हैं, इसलिए आप अन्य फूड के मुकाबले उन्हें आसानी से अलग कर सकते हैं या उनकी पहचान कर सकते हैं। 

-पारंपरिक फूड के मुकाबले ऑर्गेनिक फूड लंबे समय तक सुरक्षित रहता है। ऑर्गेनिक फूड में फेनॉलिक कंपाउंड्स मौजूद होते हैं जो हमारे दिल को कार्डियोवस्कुलर रोग और कैंसर के खतरों से बचाकर रखता है। 

-फूड फार्म एनिमल्स भी ऑर्गेनिक फार्मिग के तहत आते हैं जिनकी देखभाल ग्रोथ हार्मोस का प्रयोग किए बिना ही की जाती है। किसान इन बातों का खास ख्याल रखते हैं कि इन जानवरों को अच्छा और संतुलित खानपान दिया जाए। 

-ऑर्गेनिक फॉर्म्स में उपजाए जाने वाले फलों और सब्जियों में अन्य जरिए से की जाने वाली पैदावार के मुकाबले अधिक एंटीऑक्सीडेंट्स मौजूद होते हैं। 

ऑर्गेनिक फूड्स खरीदने के पहले 
-उत्पादन और प्रसंस्करण की निगरानी करने वाले आधिकारिक प्रमाणन निकाय की ओर से पैकेट पर लगे लेबल या लोगो को जरूर देख लें। 

-आपके आसपास ऑर्गेनिक फूड बेचने के लिए अधिकृत संगठनों से जुड़ी जानकारी अवश्य रखें। 

-अलग-अलग दुकानों में जाकर विभिन्न फूड आइटम्स की कीमत से जुड़ी जानकारी लें, फिर उसी अनुसार खरीदारी करें। 

-ऑर्गेनिक फूड्स की कीमतों में 10 से 200 प्रतिशत तक का अंतर हो सकता है। यह इस बात पर निर्भर करता है कि दुकानदार सामान कहां से खरीदकर लाया है? 

इनकी है मांग 
ऑर्गेनिक चाय, कॉफी, दूध, शहद, सब्जियां, फल, चावल, दाल, तेल, नारियल तेल, जैतून का तेल, शराब, मटन आदि(हिंदुस्तान,दिल्ली,19.4.12)।

3 टिप्‍पणियां:

  1. ऑर्गेनिक फूड्स क्या है,इसकी जानकारी देंने के लिए आभार,..

    उत्तर देंहटाएं
  2. ऑर्गेनिक फूड्स हमारे यहाँ चौपाल में मिलने लगा है
    पर बहुत महंगा बिकता है ! उपयोगी जानकारी .....

    उत्तर देंहटाएं
  3. होता चर्चा मंच है, हरदम नया अनोखा ।

    पाठक-गन इब खाइए, रविकर चोखा-धोखा ।।

    बुधवारीय चर्चा-मंच

    charchamanch.blogspot.in

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।