बुधवार, 23 मार्च 2011

यूं करें दिन की शुरुआत

आपको पता होना चाहिए कि सुबह की शुरुआत कैसे की जाए। जैसे आप सुबह-सुबह भगवान का नाम लेना पसंद करते हैं या किसी ऐसे व्यक्ति का चेहरा देखना पसंद करते हैं जिसके बारे में आपका मानना है उसे देख कर आपका दिन अच्छा गुजरेगा।

लेकिन यकीन जानिए इन सबसे बढ़कर है आपके जीवन में असली खुशियां लाने वाली सुबह के दौरान की गई एक्सरसाइज। हालांकि एक्सरसाइज कभी भी की जाए वह आपको चुस्त-दुरुस्त ही रखेगी लेकिन सुबह की एक्सरसाइज की तो बात ही कुछ और है। सुबह एक्सरसाइज करने के लिए आपको यह भी पता होना चाहिए कि सुबह की गई कौन सी एक्सरसाइज आपको ज्यादा फ्रेशनेस प्रदान करेगी। यहां कुछ ऐसी ही एक्सरसाइज के बारे में जानकारी।

फिट रहने के लिए जॉंगिंग और सैर करना हमेशा से ही बेहतर माना जाता है। सुबह कुछ देर किसी पार्क में जगिंग जरूर करना चाहिए या तेज कदमों से चलना चाहिए। दरअसल, सुबह के समय ही आप अपने पूरे दिन के लिए ऊर्जा ग्रहण करते हैं। यदि आप सुबह-सवेरे कुछ समय के लिए सैर या जॉगिंग करेंगे तो इससे आप तरोताजा महसूस करेंगे। ध्यान रहे जॉगिंग करते समय कंफर्टेबल शूज और कपड़े पहनने चाहिए।

सूर्य नमस्कार और प्राणायाम
सूर्य नमस्कार और प्राणायाम बहुत अच्छे माने जाते हैं। यदि आप खुली हवा में खड़े होकर 5 से 10 मिनट तक लंबी-लंबी सांसे लेंगे तो यह आपकी श्वास संबंधी शिकायतों को दूर भगाने में मदद करेगा। फेफड़ों को पूरी तरह खोलने और शुद्ध वायु लेने और भरपूर ऑक्सीजन ग्रहण करने के लिए कुछ देर गहरी सांसें लेनी चाहिए।

प्राणायाम खड़े होकर गहरे सांस लेने की क्रिया है। मुंह बंद करके नाक से धीरे-धीरे सांस खींचते हुए गहरे सांस लीजिए। अब सांस को जितनी देर हो सके अन्दर ही रोक कर रखें। फिर थोड़ा सा मुंह खोलकर सांस को धीरे-धीरे ही तब तक बाहर निकालते रहें जब तक कि फेफड़े खाली न हो जाएं। इस क्रिया को 10-15 बार दोहराते रहना चाहिए।

पंजों के बल सैर

सैर और जॉगिंग के अलावा एक और बेहतर एक्सरसाइज है जो आपको आकर्षक लुक देती है। यदि आप अपने पंजों के बल चलें तो इससे आपका शारीरिक संतुलन बेहतर होगा। सैर के दौरान आपको बीच-बीच में कम से कम 100 कदम पंजों के बल भी चलने का अभ्यास करना चाहिए। इससे कमर और पीठ सीधी रहती है और पेट भी बाहर नहीं निकलता।

रस्सी कूद भी बेहतर व्यायाम
अगर आप उछलने-कूदने में सक्षम हैं तो रस्सी कूदना बहुत ही बेहतर व्यायाम है। धीरे-धीरे रस्सा कूदना शुरू करना चाहिए। शुरुआत में बहुत देर तक तेज गति से रस्सा नहीं कूदना चाहिए। रस्सा कूदते हुए काउंटिंग भी करनी चाहिए जिससे आपको भी यह अंदाजा रहे कि आप कितनी बार रस्सा कूद व्यायाम कर रहे हैं।

डांस एक्सरसाइज
अगर आप युवा है तो जाहिर सी बात है कि आप म्यूजिक के भी शौकीन होंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये म्यूजिक भी आपको हेल्दी बनाने में लाभदायक है। म्यूजिक सुनते हुए यदि संगीत की धुनों पर आप थिरकना चाहते हैं तो अपने आपको थिरकने से मत रोकिए क्योंकि डांस करने से शरीर में मजबूती आती है। डांस से आप न सिर्फ पूरे शरीर की एक्सरसाइज करते हैं बल्कि अपने शरीर को लचीला भी बनाते हैं।

आउटडोर गेम्स 
बच्चों के साथ-साथ सभी को आउटडोर गेम्स खेलने का शौक होता है। आप भी अपनी सुबह की एक्सरसाइज में आउटडोर गेम्स को भी शामिल कर सकते हैं। टेनिस, बैडमिंटन, फुटबॉल और साइकलिंग ऐसे खेल हैं, जो आपको पूरी तरह से चुस्त-दुरुस्त बनाते हैं। आप अपने शरीर से जितने ज्यादा मूवमेंट करेंगे वह आपके लिए उतना ही बेहतर होगा।

रोजाना इन एक्सरसाइज को करने से आप पाएंगे कि आपके शरीर में ऑक्सीजन और रक्त का संचलन बढ़ा है, इससे आप पूरे दिन खुद को फुर्तीला भी महसूस करेंगे। वैसे भी सुबह एक्सरसाइज करने से न सिर्फ दिमाग तेज होता है बल्कि आप दैनिक कार्यों में पहले से अधिक फुर्तीले हो जाते हैं। सबसे अहम चीज इन सबके चलते आपका आत्मविश्वास अपने आप दोगुना हो जाता है। इतना ही नहीं सुबह की कसरत तनाव मुक्त रखने और खुश रखने में भी मदद करती है।
(योग और नेचुरोपैथी विशेषज्ञ डॉ. अंजना दास से बातचीत पर आधारित)

एक्सरसाइज करते समय कुछ बातों का खास ध्यान रखें
-एक्सरसाइज के लिए सुबह सूरज उगने से पहले का समय ठीक रहता है। 
-एक्सरसाइज के तुरंत बाद नहीं नहाना चाहिए बल्कि एक घंटे के बाद नहाना चाहिए। 
-अगर सैर करते समय अकेलापन लगे तो म्यूजिक लगा लें। वैसे दो व्यक्ति मिलकर एक्सरसाइज करें तो इससे आसानी होती हैं।
-एक्सरसाइज को अपनी रोजाना की आदत में शामिल करना चाहिए उसे बोझ नहीं समझना चाहिए।
-शरीर को ठीक तरीके से काम करने के लिए शरीर के हर अंग का व्यायाम करना चाहिए और पूरी तरह खुली जगह पर ही करना चाहिए। 
-बीच-बीच में थोड़े समय के लिए आराम भी करना चाहिए। कुछ समय तक तेज-तेज और कुछ समय धीरे-धीरे एक्सरसाइज करनी चाहिए।
-ध्यान रहे, शरीर पर कपड़े कम से कम और ढीले-ढाले पहनने चाहिए। एक्सरसाइज के तुरंत बाद कुछ खाएं-पीएं नहीं। जो भी खाएं, शरीर की जरूरतों के हिसाब से खाएं।
-आप सैर करें, खेलें या व्यायाम करें। इन सबके बीच खुश रहना बहुत जरूरी है। तभी आपको इसका पूरा लाभ मिलेगा।

घरेलू इलाजः हाई ब्लड प्रेशर हो तो अपनाएं कुछ नुस्खे
- प्रतिदिन कुछ देर व्यायाम, प्राणायाम, तेज चलना, भागना आदि में से जो कर सकें, जरूर करें। जितना हो सके चिंतामुक्त रहने का प्रयास करें।
- वसा रहित भोजन करें। भोजन सादा, सुपाच्य और हलका होना चाहिए।
- सर्पगंधा बूटी की जड़ को धोएं और सुखाकर इसका चूर्ण बनाएं। चूर्ण का छोटा चम्मच दिन में तीन बार सादे पानी से खाएं। 
- नीम की पत्तियों का रस भी लाभदायक है। 15 ग्राम नीम की पत्तियों का दस रोज पीएं।
- पालक और गाजर का आधा-आधा कप रस मिलाकर रोजाना पीएं।
- शहद वाला नींबू-पानी फायदेमंद रहता है। गर्म पानी में नीबू निचोड़ें और उसमें एक चम्मच शहद घोलकर पी जाएं। दो सप्ताह तक पीएं।
- वज़न पर नज़र रखना बहुत जरूरी है। ज्यादा वज़न होने से शरीर पर ज्यादा प्रेशर पड़ता है और इससे हाई ब्लड प्रशर की समस्या बढ़ सकती है।
(हिंदुस्तान,दिल्ली,15.3.11)

1 टिप्पणी:

  1. सुबह की बेहतरीन शुरुआत के शानदार नुस्खे.
    दिक्कत ये है कि लिंक बनी रहे तब तक सब बढिया चलता है और लिंक टूटते ही लंबे समय के लिये सब गडबड हो जाता है ।

    उत्तर देंहटाएं

एक से अधिक ब्लॉगों के स्वामी कृपया अपनी नई पोस्ट का लिंक छोड़ें।